Corona से शहर को बचाने आगे आए किसान, ट्रैक्टर में जुगाड़ कर बनाई सैनिटाइज मशीन

अभी फसल कटाई का वक्त है बावजूद इसके कई किसानों ने अपने ट्रैक्टरों को सैनिटाइजेशन (Sanitization) के काम में लगाया है. इसके लिए किसानों ने किसी भी तरह का कोई भी मेहनताना नहीं लिया.

गलती पासपोर्ट वालों ने की और भुगत राशनकार्ड वाले रहे हैं. कोरोना (COVID-19) को लेकर सोशल मीडिया (Social Media) पर इस तरह की बातें खूब हो रही है. लेकिन इन सबके बीच ऐसी भी खबर है जिसे सुनकर आप भी कहेंगे वाह क्या बात है.

देखिए #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

कोरोना (Coronavirus) की बीमारी भले ही शहरों से फैली हो लेकिन अपने शहर को बचाने के लिए गांव के लोग आगे आ रहे हैं. सुनने में भले ही अजीब लगे लेकिन आगरा में यह हकीकत है. आगरा के सांसद प्रोफेसर एस.पी.सिहं बघेल (SP Singh Baghel) ने टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत में बताया कि किसानों ने ट्रैक्टर में जुगाड़ कर बड़े ड्रम लगाए हैं और शहर को सैनिटाइज (Sanitize) करने का काम शुरु किया गया है.

किसानों ने बनाई सैनिटाइज मशीन

एस.पी. सिंह बघेल ने बताया कि हमने देखा किसान खेतों में कीटनाशक हटाने के लिए छिड़काव करते हैं. इसके लिए ट्रैक्टर पर ड्रम बांधकर उसमें बड़ी पाइप लगायी जाती है और फिर ड्रम के अंदर कीटनाशक डालकर खेतों में कीड़े-मकोड़े और कीटनाशकों का सफाया किया जाता है. उन्होंने कहा कि किसानों की इसी तकनीक का हमने सहारा लिया.

ट्रैक्टर पर लगाया ड्राम

एस.पी. सिंह बघेल ने बताया कि किसानों से बड़ी तादाद में ट्रैक्टरों को मंगवाया गया. उसमें ड्रम लगाया गया और आगरा शहर से पानी की आपूर्ती को ड्रम में सुनिश्चित किया गया. इसके बाद पानी में 10 अनुपात एक के हिसाब से दवाई मिलायी गयी. उन्होंने कहा कि सोडियम हाइड्रोक्लोराइड पयार्प्त मात्रा में उपलब्ध है. इस तकनीक का उपयोग हमने शहर के भीड़ -भाड़ इलाके के साथ-साथ तंग गलियों में भी उपयोग किया जिससे कि सैनिटाइजेशन सही तरीके से किया जा सके.

ट्रैक्टर का कोई पैसा नहीं लिया

शहर में हो रहे सैनिटाइजेशन ड्राइव (Sanitization drive) के लिए किसानों ने किसी भी तरह का कोई भी मेहनताना नहीं लिया. स्थानिय सांसद ने बताया कि अभी फसल कटाई का वक्त है बावजूद इसके कई किसानों ने अपने ट्रैक्टर इस काम में लगाया. उहोंने कहा कि आगरा शहर में जिस तेजी से यह फैल रहा है उसके लिए बेहद जरुरी है कि सोशल डिस्टेंस (Social distance) के साथ-साथ सेनिटाइजेशन पर भी काम किया जाए. किसानों ने जो मदद की है वह काबिलेतारीफ है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts