यूपी: कोर्ट में BSP नेता के हत्यारोपी को गोलियों से भूना, जज ने भागकर बचाई जान

बीएसपी नेता व प्रॉपर्टी डीलर हाजी अहसान व उनके भांजे शादाब की नजीबाबाद में इसी साल 28 मई को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 4:55 pm, Tue, 17 December 19

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले की चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट कोर्ट (सीजेएम) में सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया है. कोर्ट में बीएसपी नेता की हत्या के आरोपी को गोलियों से भून डाला गया. यह वारदात उस समय हुई, जब सीजेएम कोर्ट में मामले की सुनवाई चल रही थी.

सीजेएम योगेश कुमार इस फायरिंग में बाल-बाल बच गए. उन्हें अपनी जान बचाकर भागना पड़ा. कोर्ट में अफरा-तफरी मच गई. लोग इधर-उधर भागते नजर आए. फिलहाल कोर्ट परिसर को पूरी तरह सील किया गया है. साथ ही परिसर के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है.


बीएसपी नेता व प्रॉपर्टी डीलर हाजी अहसान व उनके भांजे शादाब की नजीबाबाद में इसी साल 28 मई को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने इस मामले में दानिश को मुंबई और जब्बार व शाहनवाज को दिल्ली से गिरफ्तार किया था.

जब्बार और शाहनवाज को मंगलवार को सीजीएम कोर्ट में पेशी पर लाया गया था जहां कोर्ट परिसर में पहले से मौजूद तीन शूटरों ने गोलियां बरसा दीं. बताया जा रहा है कि वकीलों ने तीनों आरोपियों को घेरकर दबोच लिया. इस दौरान तकरीबन बीस राउंड गोलियां चलीं.

सीओ नजीबाबाद प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि बसपा नेता की हत्या के बाद पुलिस पूछताछ में हुए खुलासे के मुताबिक जब्बार व दानिश ने प्रॉपर्टी डीलर हाजी अहसान व उनके भांजे की हत्या को अंजाम दिया था. हत्या शहनवाज ने कराई थी.

बता दें कि शाहनवाज की गिनती मुख्तार अंसारी के करीबी के तौर पर की जाती है. कोर्ट के मोहर्रिर भी इस हमले में गंभीर रूप से घायल हुए हैं. मौके पर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है. इसके साथ ही एसपी भी वहां पहुंच चुके हैं.

ये भी पढ़ें-

LIVE: जाफराबाद में विरोध प्रदर्शन हिंसक, दिल्ली के 7 मेट्रो स्टेशन पर Entry-Exit बंद

CAA के खिलाफ बोलने की सज़ा, सुशांत सिंह को ‘सावधान इंडिया’ से निकाला