‘बेटा गलत हो तो गोली मार देना, फंसाया गया’, हाथरस रेप के आरोपियों के घरवाले क्या बोले

हाथरस रेप केस (Hathras Dalit Rape Accused) में चार आरोपी हैं. इनका नाम संदीप, लवकुश, रवि और राजकुमार है. हमने चारों के परिवार से अलग-अलग बात की और जानना चाहा कि उनके बेटों पर लगे आरोपों पर उनका क्या कहना है.

  • Jitender sharma
  • Publish Date - 1:14 pm, Thu, 1 October 20
Hathras Dalit Rape Case
हाथरस रेप पीड़िता का पुलिस ने रात में जबरन किया था अंतिम संस्कार (FILE)

हाथरस रेप केस में पीड़िता (Hathras Dalit Rape Case) की मौत हो चुकी है और अब चारों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं. पीड़िता के परिवार द्वारा लगाए जा रहे आरोप सबके सामने हैं. लेकिन इस बीच दूसरे पक्ष यानी आरोपी लोगों के परिवार का भी अपना पक्ष है. उनके मुताबिक सभी आरोप गलत हैं. एक आरोपी के परिवारवालों ने कहा आरोप पुरानी रंजिश के चलते लगाए गए हैं. दूसरे परिवार ने तो उल्टा लड़की के परिवार पर ही उसे मारने का आरोप लगाया है.

हाथरस रेप केस (Hathras Dalit Rape Accused) में चार आरोपी हैं. इनका नाम संदीप, लवकुश, रवि और राजकुमार है. हमने चारों के परिवार से अलग-अलग बात की और जानना चाहा कि उनके बेटों पर लगे आरोपों पर उनका क्या कहना है.

पढ़ें – यूपी: हाथरस-बलरामपुर में दलित लड़की के बाद आजमगढ़-बुलंदशहर में नाबालिग से हैवानियत

संदीप के पिता गुड्डू का कहना है कि वारदात के वक्त उनका बेटा उनके साथ था. गुड्डू के मुताबिक, उनके बेटे का नाम गलत लिखाया गया है. संदीप की मां ने भी यही बात दोहराई.

उन्होंने खुद अपनी बेटी को मारा है: आरोपी लवकुश की मां

दूसरे आरोपी लवकुश की मां मुन्नी ने कहा कि वारदात के वक्त उनका बेटा उनके साथ खेत में चारा काट रहा था. मुन्नी के उल्टा लड़की के परिवार पर आरोप लगाया कि उन लोगों ने खुद ही अपनी बेटी को मारा है. वह बोलीं, ‘मैंने देखा कि लड़की पड़ी हुई है और मां चारा काटे जा रही है, उसे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था.’ मुन्नी के मुताबिक, उनके लड़के ने तो लड़की को उल्टा पानी पिलाया था.

पढ़ें – बारां में दो नाबालिगों से गैंगरेप, सीएम गहलोत बोले- हाथरस से न जोड़ें, मर्जी से गई थीं लड़कियां

अगर बेटा गलत हो तो उसे गोली मार देना: रवि के पिता

तीसरे आरोपी रवि के पिता अतर सिंह बोले कि मेरा बेटा वारदात के वक्त मेरे साथ घर पर था उसका नाम गलत लिखाया गया है. पिता ने कहा, ‘अगर वो गलत है तो उसे गोली मार दी जाए. अगर मैं झूठ बोल रहा हूं तो मुझे भी गोली मार दी जाए.’

चौथे आरोपी का नाम राजकुमार है, उनके पिता राकेश ने कहा कि उस परिवार (पीड़िता का परिवार) से हमारी पुरानी रंजिश है. राकेश के मुताबिक, वारदात के वक्त तो उनका बेटा गांव से बाहर नौकरी था. राकेश के मुताबिक, उनके बेटे का नाम 12 दिन बाद साजिश के तहत लिखाया गया.