थाने में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, न SO साहब और न जनता… किसी ने नहीं लगाया मास्क

कुशीनगर जिले के तरयासुजान थाने में गोवंशीय पशुओं के पकड़े जाने के बाद उनकी सुपुर्दगी का आयोजन चल रहा था और SO साहब के साथ पूरी पब्लिक सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के नियमों की धज्जियां उड़ा रही थी.

जब नियमों का पालन कराने वाले ही नियमों को तोडें तो कार्रवाई कौन करेगा? ताजा मामला सामने आया है उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के तरयासुजान थाने से, जहां गोवंशीय पशुओं के पकड़े जाने के बाद उनकी सुपुर्दगी का आयोजन चल रहा था और एसओ साहब के साथ पूरी पब्लिक सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ा रही थी.

भीड़ देखकर नहीं लग रहा था कि यह किसी थाने का दृश्य है, बल्कि यह बाजार का दृश्य लग रहा था. इसमें एसओ ने खुद ही मास्क नहीं लगाया और न ही पब्लिक में किसी ने लगाया हुआ था. एसओ साहब बाकायदे भीड़ के बीच वर्दी में बिना मास्क लगाए पत्र पढ़ रहे थे. खैर एसओ साहब खुद यहां के राजा हैं, तो किसकी मजाल कि इनसे सवाल पूछे.

जब मौके पर मौजूद एसडीएम से इस मामले पर सवाल पूछा गया, तो वह अपना पल्ला झाड़ लिए और सीओ साहब से बात करने को बोल दिया, लेकिन सीओ साहब थे कि कुछ बोलने को ही राजी नहीं हुए.

दरअसल कुशीनगर के तरयासुजान में शुक्रवार को पुलिस की सक्रियता से 6 ट्रक में 250 गोवंशीय पशुओं के साथ 11 तस्कर पकड़े गए थे. तस्करों के जेल जाने के बाद शनिवार को इन पशुओं को लोगों को सौंपने का काम शुरू किया गया. उसके बाद लोगों का जमावड़ा थाने में शुरू हो गया.

देखते ही देखते ऐसा लगने लगा कि मानों बाजार लग गया है, फिर कैसा नियम और कैसा कानून. साहब भी बिना मास्क लगाए ही लोगों के बीच कुर्सी मेज लगाकर बैठ गए. उसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कौन कराता?

इस संबंध में नियमों के पालन की जिम्मेदारी निभाने वाले एसडीएम तमकुहीराज एआर फारूकी ने पहले तो चुप्पी साध ली, फिर बोले कि सीओ साहब से बात करिए. उसके बाद सीओ साहब से बात करने पर उन्होंने कुछ भी बोलने से मना कर दिया.

Related Posts