लखनऊ डबल मर्डर केस में खुलासा, जापानी नॉवेल से प्रेरित थी मां-भाई की हत्यारोपी छात्रा

रेलवे अधिकारी की बेटी (Daughter) ने अपनी मां और भाई को मारने से पहले बाथरूम के शीशे पर जैम से Disqualified Human लिखा था. बाथरूम में लगे इसी शीशे से लखनऊ पुलिस ने डबल मर्डर की मिस्ट्री सुलझाई थी.

  • उमेश पाठक
  • Publish Date - 11:58 pm, Sun, 30 August 20

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में हुए हाई प्रोफाइल मर्डर (Murder) ने हर किसी को दहला कर रखा दिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास के नजदीक हुई इस हत्या में चौंकाने वाली बात तब सामने आई जब पता चला की बेटी ने ही अपनी मां और भाई को गोली मारी थी. सूत्रों के अनुसार, लड़की ने पूछताछ में कबूल किया है कि वो एक जापानी नॉवेल ‘Human Disqualification’ से प्रेरित थी. इस नॉवेल के लेखक ने इसकी शुरुआत खाने वाले जैम से लिखकर की थी.

रेलवे अधिकारी की बेटी ने अपनी मां और भाई को मारने से पहले बाथरूम के शीशे पर जैम से Disqualified Human लिखा था. बाथरूम में लगे इसी शीशे से लखनऊ पुलिस ने डबल मर्डर की मिस्ट्री सुलझाई थी. मां और भाई को गोली मारने के बाद इस शीशे पर भी गोली चलाई थी. लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने भी मीडिया से बातचीत में बाथरूम के शीशे का जिक्र किया था.

जापान की ऑल टाइम सेकंड बेस्ट सेलर नॉवेल

ह्यूमन डिस्क्वालिफिकेशन या नो लॉन्गर ह्यूमन नॉवेल 1948 में आई थी. जापानी लेखकर ओसामू दजाई ने यह नॉवेल लिखी थी. इसे जापान की ऑल टाइम सेकंड बेस्ट सेलर नॉवेल माना जाता है. लड़की के कमरे की दीवार पर एक रोती हुई इमोजी भी बनी हुई है. स्माइली की आंखों से लाल रंग का आंसू निकलता दिख रहा है.

लड़की को अपने किए पर कोई दुख नहीं

रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की को अपने किए पर कोई दुख नहीं है. उसने कहा कि उसे कोई प्यार नहीं करता था. उसने अपने हाथों में काटकर ओआर गॉड लिखा है. पुलिस ने जब पूछताछ में उससे इस बारे में पूछा तो उसने कहा, ‘कौन-सा बड़ी बात है? यह नॉर्मल बात है. मैंने पढ़ा है कि रोज 1.5 मिलियन लोग अपना हाथ काट लेते हैं.’