यूपी: हाथरस-बलरामपुर में दलित लड़की के बाद आजमगढ़-बुलंदशहर में नाबालिग से हैवानियत

पुलिस (Police) ने बताया कि ‘आरोपी पीड़िता का पड़ोसी है. वो बच्ची को जिले के जीयनपुर इलाके में स्थित अपने घर में ले गया. उसने बच्ची की मां को यह बताया कि वो उसे नहलाने के लिए लेकर जा रहा है.’

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:03 am, Thu, 1 October 20

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आजमगढ़ (Azamgarh) जिले में एक आठ साल की नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार (Rape) का सामना सामने आया है. पुलिस टीम ने गुरुवार को बताया कि इस मामले में आरोपी एक 20 साल का शख्स है. पीड़िता की मां ने इस दुष्कर्म को लेकर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस ने बताया कि ‘आरोपी पीड़िता का पड़ोसी है. वो बच्ची को जिले के जीयनपुर इलाके में स्थित अपने घर में ले गया. उसने बच्ची की मां को यह बताया कि वो उसे नहलाने के लिए लेकर जा रहा है.’

पुलिस ने बताया कि आरोपी ने बच्ची की मां से उसके कपड़े भी लिए थे. बच्ची जब अपने पड़ोस के घर से वापस लौटी तो उसने दर्द की शिकायत की और उसे ब्लीडिंग हो रही थी. बच्ची को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

हाथरस गैंगरेप: ADG बोले- ‘परिवार की सहमति से हुआ पीड़िता का अंतिम संस्कार’

आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी की पहचान दानिश के रूप में हुई है, उसे गिरफ्तार कर लिया गया है.

बुलंदशहर में भी नाबालिग लड़की से बलात्कार 

वहीं, यूपी के बुलंदशहर (Bulandshahr) जिले में एक 14 साल की नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है. रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार रात को काकोर इलाके के एक गांव में पीड़िता के पड़ोसी ने इस दुष्कर्म को अंजाम दिया. एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा, “पीड़िता के पिता की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है.”

दबिश के बाद नाबालिग से दुष्कर्म करने वाला दरिंदा गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने देर रात आरोपी रिजवान उर्फ पकौड़ी को गिरफ्तार किया है. डीएम और एसएसपी ने फोन पर गिरफ्तारी की जानकारी दी है. एसएसपी के मुताबिक, पीड़िता और आरोपी पड़ोसी थे. परिजनों ने घर से अगवा कर नाबालिग बेटी से रेप का आरोप लगाया है.

हाथरस सामूहिक दुष्कर्म मामले में अपडेट

गौरतलब है कि राज्य के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई युवती के पिता से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की. युवती के पिता ने मुख्यमंत्री से दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

मुख्यमंत्री ने उन्हें ऐसा ही होने का भरोसा दिलाया है. सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मृतका के परिवार के एक सदस्य को कनिष्ठ सहायक के पद पर नौकरी दी जाएगी. 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद भी दी जा रही है. साथ ही सूडा योजना के तहत हाथरस शहर में एक घर भी दिया जाएगा.

अब बलरामपुर में हाथरस जैसी हैवानियत, गैंगरेप के बाद युवती के पैर, कमर तोड़ने का आरोप