योगी सरकार का बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, महोबा डीएम समेत 9 आईएएस अधिकारियों के तबादले

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मंगलवार देर रात बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया. इसमें 9 आईएएस अधिकारियों के तबादले किए गए

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मंगलवार देर रात बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया. इसमें 9 आईएएस अधिकारियों के तबादले किए गए.  साथ ही महोबा के डीएम अवधेश कुमार तिवारी को भी हटाया गया है जिनपर पिछले दिनों चारा घोटाले के आरोप लगे थे. 9 आईएएस अधिकारियों के तबादले के साथ-साथ दो पीसीएस अधिकारियों का ट्रांसफर भी हुआ है. वहीं, उन आठ आईएएस अधिकारियों को भी तैनाती मिल गई है जिन्हें पिछले दिनों प्रतीक्षारत सूची में रखा गया था.

महोबा के डीएम पर लगे थे आरोप

योगी सरकार ने सत्येंद्र कुमार को महोबा का नया डीएम बनाया है. वहीं मौजूदा डीएम अवधेश कुमार तिवारी को विशेष सचिव कृषि उत्पादन आयुक्त शाखा तैनात किया गया है. बता दें कि अवधेश कुमार तिवारी पर बीजेपी विधायक बृजभूषण राजपूत ने भूसा घोटाले में शामिल होने के आरोप लगाए थे.

पढ़ें – आईपीएस पर फिरौती मांगने का आरोप लगानेवाले बिजनसमैन की मौत, लगी थी गोली

जानकारी के मुताबिक, कानपुर के मंडलायुक्त व श्रमायुक्त सुधीर एम. बोबड़े को हटाकर सदस्य न्यायिक राजस्व परिषद के पद पर भेजा गया है. केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से लौटे और प्रतीक्षारत मोहम्मद मुस्तफा को प्रदेश का नया श्रमायुक्त बनाया गया है. परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक राजशेखर को कानपुर का नया मंडलायुक्त बनाया गया है.

आठ अधिकारियों को मिली नई तैनाती

इसके साथ ही 12 सितंबर को आठ जिलों से हटाकर प्रतीक्षारत किए गए जिलाधिकारियों को तैनाती दे दी गई है. राजेश पांडेय को विकास प्राधिकरण मेरठ उपाध्यक्ष पद से मऊ का डीएम बनाया गया था, लेकिन वह कार्यभार संभालते उसके पहले उन्हें प्रतीक्षारत कर दिया गया था. उन्हें भी कम महत्व वाले एपीसी शाखा में विशेष सचिव बनाया गया है.

अबतक 15 IPS को सस्पेंड कर चुकी है योगी सरकार

योगी सरकार के कार्यकाल से जुड़ी एक और रिपोर्ट सामने आई है. पता चला है कि अपने तीन साल के कार्यकाल में सरकार ने 15 आईपीएस अफसरों को सस्पेंड किया है. ताजा मामला महोबा के एसपी मणि लाल पाटीदार को सस्पेंड करने का है. उनपर घूस मांगने के आरोप लगे थे.

Related Posts