हनीट्रैप में फंसे वैज्ञानिक का अपहरण, पुलिस ने होटल से किया रेस्क्यू, 3 गिरफ्तार

नोएडा (Noida) में पुलिस ने हनीट्रैप (Honeytrap) में फंसे एक वैज्ञानिक को रेस्क्यू (Rescue) कर अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया. जूनियर साइंटिस्ट (Junior Scientist) का अपहरण शनिवार को हुआ था.

प्रतीकात्मक फोटो

हनीट्रैप (Honeytrap) में फंसे सरकारी एजेंसी के जूनियर साइंटिस्ट (Junior Scientist) का दो दिन पहले अपहरण हो गया था. सोमवार को उसे नोएडा के होटल के एक कमरे से छुड़ाया गया. पुलिस (Police) ने जानकारी देते हुए बताया कि एक महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि गौतम बुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के नेतृत्व में रेस्क्यू ऑपरेशन रविवार सुबह ही शुरू कर दिया गया था, जब साइंटिस्ट के परिवार को फोन कर 10 लाख की फिरौती मांगी गई थी.

यह भी पढ़ें : स्‍टेट लॉ में संशोधन कर कृषि कानूनों को लागू न करें कांग्रेस शासित राज्‍य: सोनिया गांधी

आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि 45 वर्षीय साइंटिस्ट दिल्ली की टॉप सरकारी एजेंसी में जूनियर वैज्ञानिक पद पर कार्यरत है. नोएडा पुलिस के एडिश्नल डिप्टी कमिश्नर रणविजय सिंह ने बताया कि साइंटिस्ट को सेक्टर 41 के एक OYO होटल में एक कमरे के भीतर बंधक बनाया गया था.

उन्होंने बताया कि मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनकी पहचान दीपक कुमार, सुनीता गुर्जर और राकेश कुमार उर्फ रिंकू के रूप में हुई है. अपहरण में शामिल इनके दो अन्य साथी फरार हैं.

होटल में बनाया बंधक

पुलिस अधिकारी ने बताया कि राकेश कुमार उर्फ रिंकू होटल का ऑपरेटर है, जहां साइंटिस्ट को अपहरकर्ताओं ने बंधक बनाया हुआ था. आधिकारियों के मुताबिक सेक्टर 77 निवासी साइंटिस्ट शनिवार को करीब 5:30 बजे नोएडा सिटी सेंटर के लिए निकला था. उसने परिवार को बताया कि वो कुछ घरेलू सामान लेने के लिए जा रहा है.

पुलिस के मुताबिक देर रात तक साइंटिस्ट घर वापस नहीं आया. कुछ देर बाद साइंटिस्ट की पत्नी को अंजान नंबर से फोन आया और कहा गया कि उसके पति का अपहरण हो चुका है. साइंटिस्ट की पत्नी से उसके पति की रिहाई के लिए 10 लाख की फिरौती मांगी गई.

मसाज के जाल में फंसाया

पुलिस ने कहा कि साइंटिस्ट ने ऑनलाइन मसाज सर्च किया, जिसके बाद वो एक शख्स के संपर्क में आया. इस शख्स ने साइंटिस्ट को रविवार को नोएडा सिटी सेंटर मिलने के लिए बुलाया, जहां से उसका अपहरण हो गया.

उन्होंने बताया कि साइंटिस्ट की पत्नी ने फिरौती की रकम इकट्ठा करने की कोशिश की लेकिन पैसों का इंतजाम न होने पर उसने सेक्टर 49 लोकल पुलिस को रविवार सुबह फोन किया, जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने मामले में संज्ञान लेते हुए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया.

यह भी पढ़ें : नोएडा के सेक्टर 59 में दवाई बनाने वाली कंपनी में लगी भीषण आग

Related Posts