सामने से आ रही थी मालगाड़ी, ट्रैक पर फेंक दिया मासूम, इंजन ऊपर से गुज़रा..पर नहीं आई खरोंच

लोको पायलट (Loco Pilot) ने बच्चे को सही सलामत उसकी मां को सौंप दिया. घटना 21 तारीख की है, ट्रेन फरीदाबाद से चलकर बल्लभगढ़ पहुंचने ही वाली थी कि ये अमानवीयता की घटना सामने आई.

जिसको भगवान बचाने वाला हो उसकी जान कोई नहीं ले सकता. बल्लभगढ़ (Ballabgarh) रेलवे स्टेशन पर एक नाबालिग की अमानवीयता पर भगवान की कृपा भारी पड़ी. दरअसल स्टेशन के नज़दीक एक 12 साल के नाबालिग लड़के ने 2 साल के मासूम को ट्रेन के सामने फेंक दिया. लेकिन ईश्वर बचाने वाला हो तो कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता.

ऐसा ही हुआ ईश्वर ने लोको पायलट को उस मासूम के लिए फरिश्ता बना दिया. जैसे ही लड़के ने मासूम को ट्रैक पर फेंका लोको पायलट की नज़र उस पर पड़ गई. मालगाड़ी 15 के स्पीड से आ रही थी. पायलट नानक सिंह ने देखा कि एक 12-13 साल के बच्चे ने 2 साल के एक बच्चे को चलती मालगाड़ी के आगे फेक दिया. उसने तुरंत इमरजेंसी ब्रेक लगाए और ट्रेन से उतरा. देखा तो बच्चा इंजन के पहियों के बीच था. हालांकि वो बिल्कुल ठीक था, लेकिन इस घटना की वज़ह से बेहद डरा हुआ था.

बच्चा मां को सही सलामत सौंपा

लोको पायलट ने बच्चे को सही सलामत उसकी मां को सौंप दिया. घटना 21 तारीख की है, ट्रेन फरीदाबाद से चलकर बल्लभगढ़ पहुंचने ही वाली थी कि ये अमानवीयता की घटना सामने आई.

आगरा मंडल के लोको पायलट नानक सिंह अगर सही वक्त पर ब्रेक न लगाते तो एक दर्दनाक हादसा हो सकता था. बच्चे के रेस्क्यू ऑपरेशन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

लोको पायलट ने घटना की पूरी लिखित जानकारी आगरा पहुंचने पर अधिकारियों की दी. लोको पायलट के फैसले की जमकरत तारीफ हो रही है. डीसीएम ने भी लोको पायलट की सराहना की है. वहीं जिस बच्चे ने उसे फेंका था उसे लोकल पुलिस के हवाले किया. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Related Posts