प्रतापगढ़ में दबंगों से तंग नाबालिग ने कुएं में कूदकर दी जान, चित्रकूट में रेप के बाद दलित मासूम ने की खुदकुशी

छात्रा के परिजनों का आरोप है कि गांव के तीन दबंग अक्सर घर मे घुस कर उससे छेड़छाड़ किया करते थे. बीते 6 माह से छात्रा से दबंग अश्लील हरकतें कर रहे थे.

  • Manish Kumar
  • Publish Date - 11:17 am, Wed, 14 October 20
dead body, जम्मू-कश्मीर, फल व्यापारी
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में महिलाओं के खिलाफ़ अपराधों में कमी देखने को नही मिल रही है. राज्य के प्रतापगढ में दबंगो के आतंक से आजिज़ आकर एक छात्रा ने कुंए में कूद कर जान दे दी, वहीं चित्रकूट में एक दलित किशोरी ने रेप के बाद खुदकुशी कर ली.

पहला मामला प्रतापगढ़ के बाघराय थाने के पुवासी गांव का है. छात्रा के परिजनों का आरोप है कि गांव के तीन दबंग अक्सर घर मे घुस कर छात्रा से छेड़छाड़ किया करते थे. बीते 6 माह से छात्रा से दबंग इस तरह की हरकतें कर रहे थे. मृतक कक्षा ग्यारह की छात्रा थी. सोमवार की रात भी दबंगों ने घर मे घुसकर छात्रा से अश्लील हरकतें कीं, जिसके चलते छात्रा बहुत आहत हो गयी और उसने आत्महत्या कर ली.

घरवालों की तहरीर पर पुलिस ने गुन्नू, गुड्डू और डब्बू सिंह पर मुकदमा दर्ज कर एक को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो की तलाश में तीन टीमें लगाई गई है. परिजनों का कहना है कि डब्बू सिंह और गुड्डू ने घर आकर परिवार को धमकाया भी.

ये भी पढ़ें-चिन्मयानंद केस: रेप के आरोपों से मुकरी लॉ की छात्रा, कोर्ट में कहा- दबाव में किया ऐसा

चित्रकूट में खुशकुशी, रेप के बाद उठाया कदम

वहीं चित्रकूट में चार दिन पहले दबंगो के चंगुल से छूटी नाबालिग दलित किशोरी ने बलात्कार की शर्मिंदगी के चलते आत्महत्या कर ली. इस मामले में पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर एक नामजद और दो अज्ञात लोगों के खिलाफ बलात्कार, अपहरण और आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है.

किशोरी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. परिजनों ने आरोप लगाया है कि 8 अक्टूबर को उनकी बेटी शौच के लिए गई हुई थी, तभी गांव के किशन नाम के युवक ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मोटरसाइकिल से उसे अगवा कर लिया और गांव के पास नर्सरी में हाथ पैर बांध कर उसके साथ बलात्कार किया.

रेप के बाद उसे खेत में फेंककर भाग गए आरोपी

दबंग बुरी हालत में उनकी बेटी को खेत मे फेंक कर भाग गए. हादसे के बाद से वो बहुत डरी सहमी थी और अपने साथ हुई बलात्कार की घटना से शर्मिंदा होकर उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इस घटना में कार्यवाही में देरी से नाराज परिजन मामले में आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें-फर्जी वैद्य पर महिलाओं ने बरसाए लात-घूंसे, इलाज के बहाने नाबालिग से दुष्कर्म का आरोप

किशन व उसके दो अज्ञात साथियों के खिलाफ कर्वी कोतवाली में मामला दर्ज करा दिया गया है. समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल परिजनों से मुलाकात करने पहुंचा. पार्टी ने आरोप लगाया है कि हाथरस जैसे बड़ी घटना के बाद भी प्रदेश में पुलिस प्रशासन लापरवाही बरत रहा है. सपा ने मांग की है लापरवाह पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया जाए. इसके साथ ही पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग भी की गई है.