बाराबंकी में दलित लड़की की रेप के बाद हत्या, खेत में मिला शव

पीड़िता (Victim) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप '(Rape) की पुष्टि होने के बाद पुलिस (Police) ने एक अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत रेप और हत्या का मामला दर्ज (Case File) किया है.

बाराबंकी जिले के एक गांव में दलित लड़की के साथ रेप का मामला सामने आया है.

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी (Barabanki) में हाथरस जैसा ही मामला सामने आया है. बुधवार को बाराबंकी जिले के एक गांव में दलित लड़की (Dalit Girl) से पहले रेप (Rape) किया गया, फिर उसकी हत्या कर दी गई. पीड़िता के पिता (Victim’s Father) ने बताया कि वह फसल की कटाई के लिए खेत में गई थी, उसी दौरान उसके साथ पहले रेप (Rape) किया गया, फिर गला घोंटकर उसकी हत्या (Murder) कर दी गई. लड़की का शव धान के खेत से बरामद किया गया.

पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Victim’s Postmortam Report) में रेप की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने एक अज्ञात (Unidentified) के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत रेप और हत्या का मामला दर्ज किया है. पुलिस (Police)  ने कहा कि पीड़िता की उम्र को लेकर सही जानकारी नहीं होने की वजह से पोस्को एक्ट (POSCO Act) के तहत मामला दर्ज किया गया है, जबकि उसके परिवार (Family) का दावा है कि पीड़िता की उम्र 17 साल थी. वहीं पुलिस ने कहा कि परिवार ने मौखिक शिकायत में लड़की उम्र 18 साल से ऊपर बताई थी.

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश: नाबालिग से तीन लड़कों ने किया गैंगरेप, PUBG खेलते वक्त हुई थी दोस्ती

अज्ञात के खिलाफ रेप और हत्या का केस दर्ज

बाराबंकी के एडिशनल एसपी राम सेवक गौतम ने मीडिया को बताया कि पुलिस ने पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर बुधवार को आईपीसी की धारा 302 के तहत एक अज्ञात पर रेप और हत्या की एफआईआर दर्ज की. प्राथमिक जांच के बाद कुछ संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है.

वहीं पीड़िता के पिता ने बताया कि उनकी बेटी फसल की कटाई के लिए दिन में घर से खेत की तरफ निकली थी. रात के करीब 1.30 बजे तक भी जब वह घर नहीं लौटी, तो परेशान परिवार ने उसकी तलाश शुरू की , करीब आधे घंटे बाद खेत में उसकी चप्पल दिखाई दी, और थोड़ी ही दूरी पर उसका शव बरामद किया गया.

धान के खेत में मिला रेप पीड़िता का शव

पीड़िता अपने चार भाई बहनों में सबसे बड़ी थी, उसकी एक बहन की उम्र 15 साल है, जबकि उसके दो जुड़वा भाई सात साल के हैं.

एडिशनल एसपी ने कहा कि उन्हें गांव के एक धान के खेत में रहस्यमय परिस्थितियों में शव मिलने की खबर मिली थी, जिसके बाद वह सभी सबूतों को इकट्ठा करने की कोशिश कर रहे हैं. अतिरिक्त एसपी-रैंक के अधिकारी की निगरानी में एक टीम बनाई गई है, जो जल्द ही मामले को सुलझाएगी.

ये भी पढ़ें- हाथरस केस: अगर वो बड़े घर की बेटी होती तो? पीड़िता के अंतिम संस्कार पर हाईकोर्ट ने पूछा सवाल

वहीं अयोध्या रेंज के आईजी संजीव गुप्ता ने कहा कि पीड़िता की उम्र का केस की जांच पर कोई असर नहीं पड़ेगा. बतादें कि गुस्साए परिवार ने उनकी बेटी के शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था, लेकिन पुलिस के आश्वासन के बाद परिवार ने गुरुवार शाम को शव का अंतिम संस्कार कर दिया.

Related Posts