• Home  »  उत्तर प्रदेश   »   यूपी विधानसभा उपचुनाव: मंत्रियों के कंधों पर जीत की जिम्मेदारी, सरकार और संगठन ने भी कसी कमर

यूपी विधानसभा उपचुनाव: मंत्रियों के कंधों पर जीत की जिम्मेदारी, सरकार और संगठन ने भी कसी कमर

मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi) आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने पार्टी को जीत दिलाने का पूरा खाका तैयार कर लिया है. मंत्रियों के कंधे पर उप चुनाव फतह करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 2:09 pm, Mon, 21 September 20

उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव को लेकर बीजेपी सरकार और संगठन ने कमर कस ली है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने पार्टी को जीत दिलाने का पूरा खाका तैयार कर लिया है. मंत्रियों के कंधों  पर चुनाव फतह करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने मंत्रियों को सभी जिलों का दौरा कर कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर रणनीति बनाने के निर्देश दिए हैं. मंत्रियों से कहा गया है कि, जिन सीटों पर उपचुनाव होने हैं, वहां पदाधिकारियों के साथ मिलकर विकास की योजनाओं को जल्दी पूरा किया जाए. बीजेपी इस बार अपनी 6 सीटों के अलावा एसपी की स्वार और मल्हनी सीट को भी अपने पाले में करने की रणनीति बना रही है.

‘विपक्ष के बिखराव से मिलेगी उपचुनाव में जीत’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संगठन से बेहतरीन तालमेल बनाकर चुनाव जीता जाएगा, समाज के सभी वर्गों को जोड़कर काम करना होगा. विपक्ष का विखराव और बीजेपी के पक्ष में माहौल उपचुनाव में जीत दिलाने में काम करेगा. सीएम ने कहा कि जिन्हें जिम्मेदारी दी गई है, वो लोग सभी जगहों का दौरा करें, सारा काम दो तीन दिनों के अंदर निपटा दें और स्थित का आकलन पार्टी को रिपोर्ट सौंपें. इसके साथ ही सीएम ने कहा कि स्थानीय स्तर के जो भी कार्य हैं, उन्हें हर हाल में पूरा कराया जाए. इलाकों में बिजली, पानी और स्वास्थ्य सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए, यह सुनिश्चित किया जाए कि कोरोना काल में किसी को इलाज मिलने में दिक्कत तो नहीं हो रही है.

‘बेहतर तालमेल से दूर हो कार्यकर्ताओं की नाराजगी’

वहीं प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि मंत्रियों को जिम्मेदारी दी गई है कि आपस में समन्वय बनाकर सारी तैयारियों पर ध्यान दिया जाए. अगर किसी कार्यकर्ता को प्रशासनिक स्तर पर नाराजगी है, तो तालमेल बैठकार उसे दूर किया जाए. बतादें कि अमरोहा की नौगावां सादात सीट पर लक्ष्मीनारायण चौधरी संग बलदेव औलख को, बुलंदशहर सीट पर अशोक कटारिया, सुरेश राणा, कपिलदेव अग्रवाल, रामपुर की स्वार सीट के लिए ब्रजेश पाठक, विजय कश्यप और फिरोजाबाद की टूंडला सीट के लिए डॉ. दिनेश शर्मा को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

वहीं घाटमपुर सीट के लिए केशव प्रसाद मौर्य और नीलिमा कटियार, देवरिया सीट के लिए सतीश द्विवेदी और सूर्य प्रताप शाही, जौनपुर की मल्हनी सीट पर अनिल राजभर और उन्नाव की बंगरमऊ सीट पर डॉ. महेन्द्र सिंह और सुरेश पासी को जिम्मेदारी दी गई है. इन सभी लोगों के साथ संगठन के एक-एक सदस्य को भी शामिल किया गया है.