ग्रेटर नोएडा में 1000 एकड़ भूमि पर बनेगी फिल्म सिटी, फिल्म यूनिवर्सिटी, टूरिस्ट स्पॉट समेत होगा बहुत कुछ

उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी (Film City) निर्माण को हरी झंडी मिल चुकी है. फिल्म सिटी का निर्माण ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) की जेवर विधानसभा क्षेत्र में 1000 एकड़ भूमि पर किया जाएगा.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 9:39 pm, Tue, 22 September 20

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में फिल्म निर्माण को बढ़ावा देने के लिए ‘फिल्म सिटी’ की जगह तय हो गई है. उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के यमुना अथॉरिटी एरिया में फिल्म सिटी का निर्माण किया जाएगा. मंगलवार को फिल्म जगत के कलाकारों के साथ बैठक कर सीएम योगी आदित्यनाथ ने फिल्म सिटी के स्वरूप पर विस्तार से चर्चा की.

जेवर विधानसभा क्षेत्र में फिल्म सिटी का निर्माण किया जाएगा. मंगलवार को जेवर के विधायक धीरेंद्र सिंह ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद दिया. उन्होंने लिखा, ‘आभारी हूं योगी आदित्यनाथ जी का, जिन्होंने जेवर एयरपोर्ट के बाद फिल्म सिटी की स्थापना के लिए, रबूपुरा के समीप जेवर विधान सभा के उस पौराणिक, धार्मिक और ऐतिहासिक क्षेत्र को चुना है, जो भगवान श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा और इंद्रप्रस्थ और हस्तिनापुर के मध्य पड़ती है.’

फिल्म जगत की हस्तियों संग हुई बैठक

मंगलवार को फिल्म जगत की हस्तियों के साथ योगी आदित्यनाथ ने बैठक की. इस दौरान अनुपम खेर, परेश रावल, उदित नारायण, नितिन देसाई, कैलाश खेर, अनूप जलोटा, अशोक पंडित, सतीश कौशिक सहित कई दिग्गजों ने फिल्म सिटी के स्वरूप पर विस्तार से चर्चा की.

बता दें कि फिल्म सिटी में फिल्म यूनिवर्सिटी और टूरिस्ट स्पॉट भी बनेंगे. यहां एम्यूजमेंट पार्क, होटल आदि की सुविधा भी मिलेगी. गौतम बुद्ध नगर में बनने वाली फिल्म सिटी करीब 1000 एकड़ भूमि पर बनेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि फिल्म सिटी निर्माण की जगह नई दिल्ली से एक घंटे की दूरी पर है और प्रस्तावित जेवर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के निकट ही है.

देश को बेहतर फिल्म सिटी की जरूरत

उन्होंने कहा कि फिल्म सिटी से नई दिल्ली, नोएडा, ताजनगरी आगरा, कृष्ण जन्मस्थली मथुरा और जगहों पर आसानी से पहुंच सकते हैं. बता दें कि पिछले हफ्ते योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी के निर्माण की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि देश को एक बेहतर फिल्म सिटी की जरूरत है और उत्तर प्रदेश ये जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार है. उन्होंने फिल्म सिटी निर्माण के लिए नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण से प्रस्ताव मांगे थे.

उन्होंने कहा था कि फिल्म सिटी फिल्म निर्माताओं के लिए एक अच्छा विकल्प साबित होगी. इससे लोगों को रोजगार मिलेगा जिसके लिए एक एक्शन जल्द ही तैयार किया जाएगा.