झारखंड में RJD विधायक समता देवी क्वारंटीन, बिहार में सियासत गर्म

BJP के प्रवक्ता निखिल आनंद (Nikhil Anand) ने भी कहा कि जब लालू प्रसाद से मिलने के लिए कांग्रेस (Congress) के सांसद अखिलेश सिंह जाते हैं तो कोई कार्रवाई नहीं होती है, लेकिन दलित महिला (Dalit Woman) के साथ वहां अत्याचार हो रहा है.

बिहार के गया के बाराचट्टी की RJD विधायक समता देवी (Samta Devi) के रांची पहुंचने के बाद कोरोनावायरस प्रोटोकॉल के तहत 14 दिनों के लिए क्वारंटीन कर दिए जाने को लेकर BJP और JDU ने RJD नेता लालू प्रसाद और झारखंड सरकार को आड़े हाथों लिया है. RJD की विधायक समता देवी बुधवार को पार्टी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से मिलने रांची पहुंची थीं, जिसके बाद प्रशासन ने बिना आदेश के अन्य राज्यों से आने की वजह से 4 दिनों के लिए क्वारंटीन कर दिया.

RJD विधायक को क्वारंटीन किए जाने को लेकर बिहार के मंत्री नीरज कुमार (Neeraj Kumar) ने RJD अध्यक्ष लालू प्रसाद और झारखंड सरकार (Jharkhand Government) को घेरा है. बिहार के सूचना और जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि सजा काट रहे लालू प्रसाद से मिलने गईं विधायक समता देवी जो समाज के दलित समूह की महिला हैं, को उनके सहकर्मी, अंगरक्षक और ड्राइवर सहित क्वारंटीन कर दिया गया.

‘तेजप्रताप यादव को नहीं किया गया था क्वारंटीन’

उन्होंने कहा कि क्या दलित और महिला होने की वजह से विधायक समता देवी को क्वारंटीन (Quarantine) किया गया? उन्होंने कहा कि 28 सितंबर को लालू प्रसाद के पुत्र तेजप्रताप यादव (Tejapratap Yadav) अन्य व्यक्तियों के साथ बिना कोई सूचना दिए और बिना किसी अनुमति के रांची में थे, लेकिन तेजप्रताप यादव और उनके साथ के अन्य व्यक्तियों को क्वारंटीन न कर अपने पैतृक आवास बिहार के लिए निकलने की छूट दे दी गई, जो कि आपदा प्रबंधन नियमों के खिलाफ है.

‘यह हेमंत सरकार का दोहरा चरित्र दर्शाता है’

इधर, BJP के प्रवक्ता निखिल आनंद (Nikhil Anand) ने भी कहा कि जब लालू प्रसाद से मिलने के लिए कांग्रेस (Congress) के सांसद अखिलेश सिंह जाते हैं तो कोई कार्रवाई नहीं होती है, लेकिन दलित महिला के साथ वहां अत्याचार हो रहा है. निखिल ने इस मामले में हेमंत सरकार को लपेटे में लेते हुए कहा, “यह पूरा मामला हेमंत सरकार का दोहरा चरित्र दर्शाता है, लेकिन BJP इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी.”

Related Posts