मध्य प्रदेशः ‘खुद भी मास्क पहनूंगा-दूसरों से भी करूंगा अपील’, बेतुके बयान पर गृह मंत्री ने मांगी माफी

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कहा, “मैं मास्क पहनूंगा. मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करें.”

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 2:18 pm, Thu, 24 September 20

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री और बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) के मास्क (Mask) नहीं पहनने वाले बयान पर जमकर आलोचना हुई. इसके बाद उन्होंने अपने बयान पर सफाई देते हुए माफी मांगी है. उन्होंने अपने इस बयान को कानून की अवहेलना करने वाला बताया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मास्क पहनने के बारे में मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है. यह माननीय प्रधानमंत्री जी की भावना के अनुरूप नहीं था. मैं अपनी गलती मानते हुए खेद प्रकट करता हूं. मैं स्वयं भी मास्क पहनूंगा. समाज से भी अपील करूंगा कि सभी मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें.’

दरअसल नरोत्तम मिश्रा ने इंदौर में एक कार्यक्रम में संवादादाताओं ने पूछा था कि आप किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में मास्क नहीं पहनते हैं. इस पर गृह मंत्री ने बयान दिया था, “मैं मास्क नहीं पहनता और इसमें कोई बड़ी बात नहीं है.”

 मंत्री के बयान के बाद कांग्रेस ने की जमकर आलोचना

कांग्रेस ने नरोत्तम मिश्र के बयान की जमकर आलोचनाएं की थी. इसके बाद राज्य के गृह मंत्री ने आम जनता से माफी मांगी. उन्होंने कहा, “मैं मास्क पहनूंगा. मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करें.”

बता दें कि गृह मंत्री सरकार की संबल योजना के तहत सहायता वितरण के लिए एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए इंदौर में थे, जो गरीबों और एससी और एसटी समुदायों को सामजिक सुरक्षा देता है.

ये भी पढ़ें – जम्मू-कश्मीर: हत्यारों को बक्शा नहीं जाएगा, बीडीसी अध्यक्ष की हत्या पर बोले उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता ने पूछा- क्या नियम केवल आम जनता के लिए हैं

मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने गृह मंत्री पर हमला करते हुए उनसे पूछा था कि क्या कोविड-19 (Covid-19) मानदंडों का पालन केवल आम लोगों द्वारा किया जाना चाहिए और नेताओं के लिए नहीं. मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर लिखा था, “क्या कोई है जो उसके (नरोत्तम मिश्रा) के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत रखता है. क्या नियम केवल आम लोगों के लिए हैं? ”