सोनभद्र नरसंहार : फर्जी कमेटियां बना कांग्रेस नेता ने हथियाई जमीन, जांच रिपोर्ट में खुलासा

प्रमुख सचिव रेणुका कुमार की अगुवाई में बनी कमेटी ने यह रिपोर्ट दी है. अब कानूनी प्रक्रिया के तहत जमीन वापस लेने की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के उम्भा में हुए नरसंहार मामले की जांच रिपोर्ट आ गई है. इस रिपोर्ट में पता चला है कि एक कांग्रेस नेता ने गड़बड़ी कर 9000 बीघा ज़मीन हड़प ली थी. प्रमुख सचिव रेणुका कुमार की अगुवाई में बनी कमेटी ने यह रिपोर्ट दी है. इसके मुताबिक, कांग्रेस के एक नेता ने फर्जी सहकारी समतियां बनाकर सोनभद्र और मिर्जापुर में करीब 9000 बीघा जमीन हथियाई. अब कानूनी प्रक्रिया के तहत जमीन वापस लेने की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

कांग्रेसी नेता के अलावा ऐसे कई लोग हैं जो फर्जी सहकारी समितियां बनाकर जमीने हड़पने में लिप्त हैं. इन पर भी अब कार्यवाई शुरू होगी. बता दें सोनभद्र के उम्भा गांव में 17 जुलाई को जमीन कब्जाने को लेकर 10 आदिवासियों को मार दिया गया था और लगभग 25 लोग जख्मी हुए थे. इस नरसंहार ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था.

मामले में पुलिस अधीक्षक ने पांच पुलिसकर्मियों पर जुर्माना लगाया है. जुर्माना उनके एक महीने के वेतन के बराबर है. पुलिसकर्मी इस घटना से पहले पक्षपातपूर्ण कार्यवाई करने के दोषी पाए गए हैं.

कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार करीब 1000 एकड़ जमीन गलत तरीके से हड़पी गई है. 700 करोड़ कीमत की 650 एकड़ जमीन पर सहकारी समितियों का कब्जा है. 1100 पेज की इस रिपोर्ट में 660 करोड़ की सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे का खुलासा हुआ है.

6602 एकड़ जमीन पर मिर्जापुर की 4 और सोनभद्र की 3 सहकारी समितियों का अवैध कब्जा है. इस मामले पर सियासत भी खूब तेज दिखी. सुरक्षा कारणों से सोनभद्र जाने की इजाज़त न मिलने पर काग्रेंस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा धरने पर बैठ गई थीं.

ये भी पढ़ें

लव मैरिज से परेशान शख्स ने काटा रेलवे ट्रैक, पत्र में लिखा ’50 करोड़ रुपए दो वरना मचा दूंगा तबाही’

SSP नोएडा ने ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट का दावा किया, DGP बोले- ये सर्विस रूल्‍स के खिलाफ, जांच करेंगे

Related Posts