30 साल मेहनत कर किसान ने बना डाली 3 किमी लंबी नहर, लोगों ने कहा- बिहार के दूसरे दशरथ मांझी

बिहार में गया से 80 किमी दूर कोठिलवा गांव के रहने वाले 70 वर्षीय लौंगी भुइयां ने 30 साल तक कड़ी मेहनत करके पहाड़ी रास्ते को समतल कर दिया और तीन किलोमीटर लंबी नहर बना दी. इस नहर से 3 गांव के 3000 हजार लोगों को फायदा मिल रहा है.

एक एक्सीडेंट ने हैदराबाद के नीलकंठ को बना दिया दुनिया का सबसे तेज ‘ह्यूमन कैलकुलेटर’, पढ़ें पूरी कहानी

महज 20 साल की उम्र में नीलकंठ ने 'मेंटल कैलकुलेशन वर्ल्ड चैंपियनशिप' में भारत को पहला गोल्ड दिलाया है. भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने नीलकंठ को इस उपलब्धि पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं.

150 किमी की दूरी तय कर एग्जाम देने पहुंची यह आदिवासी लड़की, A+ Grade से हुई पास

श्रीदेवी (Sridevi) को दसवीं की बाकी परीक्षाएं देने के लिए 150 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ी थी. इस दौरान वह सात किलोमीटर पैदल चलीं.

केरल के गांव से शुरू हुए स्टार्ट-अप ने जीते 1 करोड़, जानें कैसे हासिल किया मुकाम

ग्रैंड चैलेंज का रिजल्ट आने पर केरल (Kerela) की टेकजेनिस्टा सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड को इनाम के तौर पर 1 करोड़ रुपए मिले हैं.

Chennai: पांच साल की संजना ने महज 13 मिनट में चलाए 111 तीर, लोग कह रहे- ‘Avengers’

संजना (Sanjana) के कारनामे से यूजर्स हैरान हैं और खूब तारीफ कर रहे हैं. दरअसल, संजना ने कुछ ऐसा कर ही दिखाया है कि जिसे जानकार आप भी उनकी तारीफ किए बिना नहीं रह पाएंगे.

घर की छत पर ही बना दिया 6 सीटर एयरक्राफ्ट, 19 साल की मेहनत के बाद पहली टेस्टिंग में हुआ पास

अमोल (Amol Yadav) ने बताया कि 19 सालों में उन्होंने कई आलोचनाएं और तकलीफें झेलीं. फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपने प्रजेक्ट पर लगे रहे.

पिता पेट्रोल पंप पर नौकरी करते थे और बेटा 18 घंटे पढ़ाई, पढ़ें UPSC टॉपर के संघर्ष की कहानी

प्रदीप सिंह (Pradeep Singh) ने बताया कि वो अक्सर अपने पिता की नौकरी पर की जा रही मेहनत को याद करते थे, इसी की वजह से अब IAS बनने का सपना पूरा हुआ है.

96 साल के ग्यूसेप पेटरनो बने इटली के सबसे बुजुर्ग स्टूडेंट, द्वितीय विश्व युद्ध में हुए थे शामिल

ग्यूसेप पेटरनो (Giuseppe Paterno) ने इटली की पलेर्मो यूनिवर्सिटी से ऑनर्स के साथ इतिहास और दर्शनशास्त्र में अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी की है. उन्होंने 2017 में ग्रेजुएशन के लिए दाखिला लिया था.

MP की कीर्ति का करिश्मा, आंखों में सिर्फ 25 फीसदी रोशनी के साथ 12वीं में हासिल की 8th रैंक

सतना (Satna) के प्रियंवदा बिड़ला हाई सेकेंडरी स्कूल (Priyamvada Birla High Secondary School) में पढ़ने वाली कीर्ति (Kirti Kushwaha) की प्रिंसिपल कहती हैं कि कीर्ति ने पूरे स्कूल का नाम रोशन किया है.

स्कूल में अछूत लड़के से स्वीडिश सरकार में आर्ट एडवाइजर तक, जानिए डॉ. पीके महानंदिया का सफ़र

डॉक्टर पीके महानंदिया (Dr PK Mahanandia) स्वीडन में एक कलाकार के रूप में विख्यात हैं और स्वीडिश सरकार के लिए कला और संस्कृति के सलाहकार के रूप में काम करते हैं.

दुबई में 11 साल की समृद्धि कालिया ने मिनटों में किए 100 योगासन, बना डाला वर्ल्‍ड रिकॉर्ड

समृद्धि कालिया (Samridhi Kalia) ने 3 मिनट 18 सेकंड के अंदर एक छोटे से बॉक्स में सौ योगासन करने का विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया है. कालिया रोजाना 3 घंटे योग अभ्यास करती हैं, उन्‍हें लॉन टेनिस, साइकिल, तैराकी, आइस स्केटिंग का भी शौक है.

मीडिया में करियर बनाना चाहती थीं रोशनी नडार, पढ़ें- देश की सबसे अमीर महिला की Success Story

जब रोशनी (Roshni Nadar Malhotra) ने पिता को बिजनेस आगे बढ़ाने के लिए संघर्ष करते हुए देखा तो उन्होंने अपना सपना और पसंंद दोनों ही किनारे कर दिए.

100 फीसदी रहा लखनऊ की लड़की दिव्यांशी जैन का रिजल्ट, 600 में से 600 अंक

दिव्यांशी जैन (Divyanshi Jain) नवयुग रेडियंस स्कूल की स्टूडेंट हैं. उनकी इस सफलता पर स्कूल से लेकर आस-पड़ोस और रिश्तेदार जोर-शोर से बधाई दे रहे हैं.

HSEB 10th Result: हिसार की ऋषिता बनीं टॉपर, पढ़ें- कैसे बना सभी सब्जेक्ट में 100 फीसदी का रिकॉर्ड

पिछले साल दसवीं की परीक्षा में संयुक्त रूप से पांच छात्रों ने टॉप किया था. पर इस बार हिसार (Hissar) की ऋषिता (Rishita) अकेले ही टॉप रैंक हासिल करने में कामयाब रहीं.

UP: सेल्फ स्टडी कर अनुराग मलिक बने 12th टॉपर, अब सिविल सर्विसेज है अगला टारगेट

12th टॉपर अनुराग मलिक (Anurag malik) ने अपनी सफलता को लेकर मीडिया से कहा कि परिजनों ने पढ़ाई के दौरान मेरा बहुत ध्यान रखा. कब क्या पढ़ना है इसका पूरा टाइम टेबल बनाया. मैं आमतौर पर 15 से 16 घंटे पढाई करता था. मैंने परीक्षा के दौरान लगभग 18 घंटे...

तेजस्वी रंगा राव बनीं IAF की पहली महिला वेपन सिस्टम ऑफिसर, Sukhoi-30 की संभालेंगी कमान

एक वेपन सिस्टम ऑफिसर (WSO) या जिसे आमतौर पर वायु सेना में "Wizzo" के नाम से जाना जाता है, एक फ्लाइट ऑफिसर होता है, जो सीधे सभी एयर ऑपरेशन और सैन्य विमानों के वेपन सिस्टम में शामिल होता है.

विनी महाजन पंजाब की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी नियुक्त, जानें उनके अब तक के सफर की बातें

विनी (Vini Mahajan) ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज से इकनॉमिक्स में ग्रेजुएशन और वह भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM), कलकत्ता से PG डिप्लोमा भी हैं, जहां उन्हें रोल ऑफ ऑनर के ख़िताब से भी नवाजा गया था.

कुछ करने की चाह हो तो कोई नहीं रोक सकता, पढ़िए चाय बेचने वाले की बेटी कैसे बनी फ्लाइंग ऑफिसर

आंचल (Aanchal Gangwal) कहती हैं कि वो शुरू से ही एक फाइटर बनना चाहती थीं. जब वो स्कूल में थीं, तभी उन्होंने फैसला कर लिया था कि वो डिफेंस (Defence) में जाएंगी.

US मिलिट्री एकेडमी से ग्रेजुएट होने वाली पहली सिख महिला बनेंगी अनमोल नारंग

अनमोल नारंग ग्रेजुएशन के बाद ओक्लोहोमा के फोर्ट सिल से बेसिक ऑफिसर लीडरशिप कोर्स (BOLC) पूरा करेंगी. इसके बाद वो अमेरिकन एयरफोर्स ज्वॉइन करेंगी.

कैथी ल्यूडर्स बनीं हम्यूमन स्पेसफ्लाइट को हेड करने वाली पहली महिला, 1992 में ज्वाइन किया था NASA

कैथी (Kathy Leuders) ने 30 मई को स्पेसएक्स (SpaceX) रॉकेट के जरिए दो एस्ट्रोनॉट्स को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर भेजने का निरीक्षण किया था. यह अमेरिका की पहली कमर्शियल फ्लाइट थी, जो कि क्रू को लेकर स्पेस में गई थी.

दर्द को हराकर जीता मां का प्यार और गोल्ड मेडल, पढ़िए प्रियंका की Success Story

उनका (Priyanka Goswami) कहना है कि देश की आधी आबादी ये तक नहीं जानती कि रेस वॉकिंग (Racewalking) क्या होती है. लोग रेसवॉकर्स पर हंसते हैं और ये स्पोर्ट्स चुनने के लिए उनकामजाक उड़ाते हैं.

सुमन को सलाम… ‘UN मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ द ईयर अवॉर्ड’ से सम्मानित होने वाली बनीं पहली भारतीय

यह पहली बार है जब संयुक्त राष्ट्र का यह प्रतिष्ठित अवॉर्ड दो महिलाएं शेयर कर रही हैं. आज यानी 29 मई को मेजर सुमन और कमांडर कार्ला को यूनाइटेड नेशनंस मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ द ईयर अवॉर्ड ((United Nations Military Gender Advocate Of The Year Award)) से सम्मानित किया जाएगा.

रोजाना 14 घंटे की कड़ी मेहनत और फैमिली के सपोर्ट ने हिमांशु को बनाया बिहार बोर्ड का टॉपर

हिमांशु (Himanshu Raj) ने अपनी सफलता का श्रेय अपने टीचर्स को दिया है. रोहतास के जनता हाई स्कूल से मैट्रिक पास करने वाले हिमांशु राज पढ़-लिखकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं.

भारतीय मूल के अमेरिकी डॉ. राजीव ‘Inventer Of The Year’ से सम्मानित, जानिए किससे मिली प्रेरणा

जोशी आईआईटी मुंबई (IIT Mumbai) से पढ़ें हैं. उन्होंने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Massachusetts Institute of Technology) से एमएस डिग्री हासिल की है.

भारत की एक और बड़ी उपलब्धि, बना चीन के बाद PPE का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश

बेंगलुरु भारत में लगभग 50 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ पीपीई (PPE) मैनुफैक्चरिंग के केंद्र के रूप में उभरा है, जहां पीपीई (PPE) का सबसे ज्यादा उत्पादन किया जा रहा है.

सानिया ने जीता सबका दिल, Fed Cup Heart Award जीतने वाली पहली भारतीय बनीं

सानिया मिर्ज़ा (Sania Mirza) ने मां बनने के बाद हाल ही में टेनिस कोर्ट पर वापसी की थी. भारत को पहली बार फेड कप के प्लेऑफ (Fed Cup Playoff) में जगह दिलाने में सानिया मिर्ज़ा की अहम भूमिका रही.

टेक स्टूडेंट ने बनाया कोरोना ‘हेल्थ बैंड’, संदिग्धों की करेगा पहचान

इस हेल्थ बैंड में माइक्रोकंट्रोलर (Microcontroller ) के साथ तीन सेंसर है, जो व्यक्ति के ऑक्सीजन लेवल, हार्ट बीट और बॉडी के तापमान को जानकर उसे डिस्पले करेगा.

सिंध के बदहाल इलाके से निकलकर राहुल देव ने कैसे रचा इतिहास….पढ़ें पूरी Success Story

इस मुकाम तक पहुंचने के लिए राहुल देव (Rahul Dev) ने काफी संघर्ष किया है. राहुल देव का जिला थारपरकर (Tharparkar) ऐसा जिला है जो कि आर्थिक रूप से कमजोर इलाके में आता है.

तेलंगाना के शख्‍स ने बनाया हैंड्स फ्री वॉशिंग स्‍टेशन, पैर चलाओ और हैंडवॉश करो

पिछले कुछ हफ्तों में, राजू (Mupparapu Raju) नाम के शख्स ने ऐसी 10 मशीनें बनाई हैं जो वर्तमान में जिला कलेक्टर, नगर निगम, नगर पालिका के कार्यालयों और पुलिस चौकियों के बाहर स्थापित हैं.

अमेरिका के टॉप साइंस बोर्ड में शामिल हुए भारतीय मूल के सुदर्शनम, जानें कौन है ये शख्स

सुदर्शनम बाबू (Sudarshanam Babu) ने साल 1988 में आईआईटी मद्रास से टेक्नोलॉजी में मास्टर्स किया. उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन 1986 में कोयंबटूर स्थित पीएसजी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग में की है.