कभी स्कूल में पढ़ाते थे BYJU’s के CEO रवींद्रन, अब बने देश के नए अरबपति

Byju's लर्निंग ऐप केइस समय 3.5 करोड़ यूजर हैं और 24 लाख पेड सब्सक्राइबर भी हैं.

नई दिल्ली: बायजू (BYJU’s) के फाउंडर और सीईओ बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) भारत के नए अरबपति बन गए हैं. टीचर रह चुके रवींद्रन ने 2011 में थिंक एंड लर्न की स्थापना की थी. 2015 में प्रमुख लर्निंग ऐप बायजू लॉन्च किया था.

केरल में जन्मे रवींद्रन के माता-पिता स्कूल टीचर थे. रवींद्रन का मन स्कूल में क्लास करने में नहीं लगता था, वह बाद में घर पर पढ़ाई करते थे. पढ़ाई पूरी करने के बाद रवींद्रन इंजीनियर बन गए और परीक्षा की तैयारी में छात्रों की मदद करने लगे उनकी क्लासेज में स्टूडेंट इतने बढ़ गए कि उन्होंने स्टेडियम में एक साथ हजारों छात्रों को पढ़ाना शुरू कर दिया. इस तरह रवींद्रन एक मशहूर टीचर बन गए थे.

एक महीने में जुुटाई 15 करोड़ डॉलर की फंडिंग
ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, रवींद्रन की कंपनी थिंक एंड लर्न ने इस महीने 15 करोड़ डॉलर (1,035 करोड़ रुपए) की फंडिंग जुटाई थी. इससे कंपनी का वैल्यूएशन 5.7 अरब डॉलर (39,330 करोड़ रुपए) हो गया. रवींद्रन के पास कंपनी के 21% से ज्यादा शेयर हैं.रवींद्रन ने 2015 में ऑनलाइन लर्निंग ऐप बायजू लॉन्च किया था. इस ऐप के 3.5 करोड़ यूजर, 24 लाख पेड सब्सक्राइबर हैं.

इस साल मार्च तक बायजू मुनाफे में आ गई थी. इसी दौरान रवींद्रन ने पेंशन फंड और सॉवरेन वेल्थ फंड जैसे लंबी अवधि वाले निवेशकों को आकर्षित करना शुरू कर दिया. हाल ही में कतर इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी ने उनकी कंपनी में पैसा लगाया है. मार्च 2020 तक इसका रेवेन्यू दोगुने से भी ज्यादा होकर 3,000 करोड़ रुपए पहुंचने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें-

बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक विधानसभा में साबित किया बहुमत

“BCCI ने बिना किसी मीटिंग कैसे तय कर लिया…