पहले कैंसर पर पाई फतह, अब 8 साल के अरोन्यतेश ने गोल्ड मेडल जीत फहराया तिरंगा

अरोन्यतेश की मां ने कहा कि वो मुकाबले को लेकर बहुत उत्साहित था. वो यह भूल गया था कि उसने कैंसर का सामना किया है.

कोलकाता: आठ साल के अरोन्यतेश गांगुली ने मास्को में हुए वर्ल्ड चिल्ड्रेन विनर्स गेम्स 2019 का टेबल टेनिस टूर्नामेंट जीत लिया है. पश्चिम बंगाल के सेमोरपोर के रहने वाले अरोन्यातेश का ये खिताफ जीतना खास मायने रखता है, क्योंकि वो कैंसर जैसी घातक बीमारी का सामना कर चुके हैं. अरोन्यतेश के लिए ये राह कांटों से भरी हुई थी लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी. अरोन्यतेश को खुद पर भरोसा था. वो जानते थे कि जिंदगी बस यहीं खत्म नहीं हो जाती.

‘भूल गया था अपना कैंसर’
अरोन्यतेश की मां का नाम कावेरी है. वो अपने बेटे के साथ मास्को गई थीं. उन्होंने बताया कि अरोन्यतेश इस मुकाबले को लेकर बहुत ही उत्साहित था. उन्होंने कहा, “अरोन्यतेश इसे लेकर बहुत उत्साहित था. मुकाबले के दौरान वो यह भूल गया कि उसने कैंसर का सामना किया.” उन्होंने कहा कि अरोन्यतेश की मेहनत देख हम सब हैरान रह जाते थे. वो कभी भी निराश नहीं होता था. कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के दौरान भी उसने अपने हौसला बनाए रखा.

4-7 जुलाई के बीच मास्को में कैंसर का सामना कर चुके बच्चों के लिए अंतरराष्ट्रीय स्पोर्ट्स कंपटीशन का आयोजन किया गया था. इस दौरान ट्रैक, चेस, फुटबाल, टेबल टेनिस, स्विमिंग और राइफल शूटिंग जैसे 6 खेलों के मुकाबले कराए गए.

‘अरोन्यतेश ने शानदार खेला’
वालंटियर अमीता भाटिया ने अरोन्यतेश की कामयाबी पर खुशी का इजहार किया. उन्होंने कहा कि ‘अरोन्यतेश भारत से हिस्सा लेने वाले 10 खिलाड़ियों में एक था. साथ ही पश्चिम बंगाल से वो अकेला प्लेयर था. अरोन्यतेश ने दुनियाभर से आए खिलाड़ियों का सामना किया और उन्हें हराने में कामयाब रहा. उसने शानदार खेल का प्रदर्शन किया.’

अरोन्यतेश कैंसर को मात दे चुका है लेकिन नियमीत तौर पर उसका चेक-अप चलता रहता है. वो पिछले दो महीनों से लगातार अपने खेल पर ध्यान दे रहा था. अरोन्यतेश की मां ने कहा, “वो सुबह 5:30 बजे जग जाता था और शाम को 6.00 से 7.30 बजे तक सोने जाता था. दिन में वो कई बार प्रैक्टिस करता था. उसने बहुत मेहनत की थी.”

ये भी पढ़ें-

राजस्थान के जैसलमेर से पकड़ा गया संदिग्ध, समझ नहीं आ रही उसकी भाषा

क्या आपने देखा ‘फ्लाइंग सोल्जर’? फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों ने शेयर की है Video

RBI के इस मोबाइल एप से असली-नकली नोटों की पहचान कर सकेंगे नेत्रहीन