भारतीय मूल के अमेरिकी डॉ. राजीव ‘Inventer Of The Year’ से सम्मानित, जानिए किससे मिली प्रेरणा

जोशी आईआईटी मुंबई (IIT Mumbai) से पढ़ें हैं. उन्होंने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Massachusetts Institute of Technology) से एमएस डिग्री हासिल की है.
Dr. Rajiv honored with Inventer of the Year, भारतीय मूल के अमेरिकी डॉ. राजीव ‘Inventer Of The Year’ से सम्मानित, जानिए किससे मिली प्रेरणा

इंडियन-अमेरिकन इन्वेंटर डॉ. राजीव जोशी (Dr. Rajiv Joshi) को प्रतिष्ठित सम्मान ‘इन्वेंटर ऑफ द ईयर’ (Inventer of the Year) से सम्मानित किया गया है. राजीव जोशी को यह सम्मान आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की क्षमताओं में संशोधन और इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाने के लिए दिया गया है. राजीव न्यूयॉर्क के आईबीएम थॉमसन वॉटसन रिसर्च सेंटर में काम करते हैं.

राजीव जोशी के नाम पर 250 पैटेंट इन्वेंशन्स हैं, जो कि उन्हें मास्टर इन्वेंटर बनाती हैं. इस महीने की शुरुआत में एक वर्चुअल अवॉर्ड सेरेमनी के दौरान राजीव जोशी को न्यूयॉर्क इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ एसोसिएशन द्वारा सम्मानित किया गया था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

अपनी अवॉर्ड सेरेमनी स्पीच में जोशी ने कहा कि थार क्लाउड, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और क्वांटम कंप्यूटिंग अब केवल चर्चा लायक शब्द नहीं रह गए हैं, बल्कि उनका बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ये सभी क्षेत्र बहुत ही रोमांचक हैं और मैं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और क्वांटम कंप्यूटिंग में आगे बढ़ रहा हूं.

जोशी आईआईटी मुंबई से पढ़ें हैं. उन्होंने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एमएस डिग्री हासिल की है. इसके अलावा उन्होंने न्यूयॉर्क की कॉलंबिया यूनिवर्सिटी से मेकेनिकल/इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी की है. उन्होंने अपने करियर में ग्लोबल कम्युनिकेशन और हेल्थ साइंस से रिलेटेड कई इन्वेंशन किए हैं.

इन इन्वेंटर्स से मिली प्ररेणा

हाल ही में पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू के दौरान जोशी ने कहा था कि आवश्यकता और जिज्ञासा मुझे प्रेरित करती हैं. उनका कहना था कि एक समस्या की पहचान करना और आउट ऑफ द बॉक्स समाधान ढूंढने के साथ-साथ ऑब्जर्व करना और विचार करना आइडियाज को जनरेट करने में बहुत मदद करता है.

उन्होंने बताया कि जब वे बड़े हो रहे थे, तब उनके माता-पिता उन्हें महान इन्वेंटर्स गुगलिएल्मो मारकोनी, मैडम क्यूरी, राइट ब्रदर्स, जेम्स वाट, अलेक्जेंडर बेल, थॉमस एडिसन और अन्य हस्तियों की कहानियां सुनाया करते थे. इन महान हस्तियों की कामयाबी के स्टोरी और इन्वेंशन्स ने उनके सोचने की क्षमता एक आकार दिया और तभी से उनकी इच्छा साइंस एंड टेक्नोलॉजी में जगी.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts