भारतीय रेल के पहियों पर लगा ब्रेक, 167वीं Anniversary पर नहीं चली एक भी पैसेंजर ट्रेन

दो वर्ल्ड वॉर (Word War) हुए, तब भी भारतीय रेल (Indian Rail) के पहिए नहीं रुके. उसके बाद भारत दो हिस्सों में भी बंटा, पर तब भी कभी रेल की गति पर रोक नहीं लगी.