कप्तान विराट कोहली पर मंडराया निलंबन का खतरा, ICC ने दोषी मान की कार्रवाई

ICC के अनुसार कोहली के खाते में एक ‘डिमैरिट' अंक भी जोड़ा गया है. यह सितंबर 2016 में संशोधित संहिता के लागू किए जाने के बाद कोहली का तीसरा अपराध है. कोहली के अब तीन ‘डिमैरिट'अंक हो गए हैं.

शराब पीकर गाड़ी चलाई तो लगेगा 10 हजार रुपए का जुर्माना, जानिए ट्रैफिक के नए नियम

हिट एंड रन के मामले में मौत होने पर 2 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा, जो पहले 25 हजार रुपये था.

राहुल के भ्रम से मंझधार में कांग्रेस, कामराज प्लान ही लगा सकेगा नैया पार?

राहुल गांधी पदत्याग की इच्छा जता चुके हैं लेकिन अब तक साफ नहीं कि वो अध्यक्ष हैं या नहीं, और अगर पद छोड़ रहे हैं तो कब तक छोड़नेवाले हैं. फैसले में देरी की वजह से लगने लगा है कि राहुल निर्णयक्षमता के अभाव से गुज़र रहे हैं और सारा...

राहुल के बाद कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष? इन दो नेताओं के नाम पर लग सकती है मुहर

राहुल गांधी अध्यक्ष पद पर रहने को तैयार नहीं हैं और इसीलिए अब उनके उत्तराधिकारी की खोज जारी है. कांग्रेस के लिए चुनौती है कि अगला अध्यक्ष ना सिर्फ योग्य और अनुभवी हो बल्कि गांधी परिवार का भरोसमंद भी हो.

यूपी में 17 जातियां अब OBC से बनेंगी दलित, किसके पक्ष में होगा सियासी समीकरण?

यूपी की 17 जातियों को एससी वर्ग में एंट्री मिल गई है. इससे सूबे के सियासी समीकरण भी बदले हैं. जानते हैं कि कौन सी हैं ये जातियां और किन सीटों पर पड़ेगा इस फैसले का असर.

बीजेपी के बढ़ते असर में ममता को याद आया गठबंधन, कांग्रेस-सीपीएम को साथ आने का आह्वान

ममता बनर्जी ने बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस-सीपीएम को साथ आने के लिए कहा है, लेकिन दिलचस्प होगा कि अपने धुर विरोधियों के साथ टीएमसी सीटों का बंटवारा कैसे करेगी.

मोदी के ‘चुपचाप कमलछाप’ ने कैसे गिराया बंगाल में टीएमसी का ग्राफ?

‘चुपचाप-कमलछाप’ वो नारा था जिसने बंगाल में टीएमसी की ज़मीन खिसका दी. पीएम मोदी के दिए इस नारे ने बांकुरा की सीट तो ममता से छीनी ही साथ ही बीजेपी की झोली में डेढ़ दर्जन सीटें डालीं.

राहुल ने नहीं सोची होगी इतनी बड़ी हार, आधे देश में ‘हाथ’ को लोगों ने थमाया शून्य

कांग्रेस की हार तो हुई लेकिन वो इतनी बड़ी होगी ये किसी ने नहीं सोचा होगा. लगभग आधे देश में कांग्रेस के हाथ में जनता ने शून्य थमा दिया.

एक्ज़िट पोल के असर में 10 साल की सबसे बड़ी बढ़त के साथ बंद हुआ बाज़ार

एक्ज़िट पोल में बीजेपी सरकार की वापसी हो रही है. एक बार फिर स्थिर सरकार की आस में शेयर बाज़ार बल्लियों उछल रहा है.

एक्ज़िट पोल्स के बाद अखिलेश-माया की मुलाकात, विपक्षियों की बैठक में दिल्ली नहीं जाएंगी BSP सुप्रीमो

एक्ज़िट पोल के बाद मुलाकातों का दौर तेज़ है. लखनऊ में मायावती और अखिलेश मिल रहे हैं तो दिल्ली में विपक्षी भी साथ बैठेंगे.

नीतीश कुमार बीजेपी के साथ लेकिन धारा 370, समान नागरिक संहिता और अयोध्या से दूरी बरकरार

नीतीश कुमार वोटिंग के आखिरी दौर में मोदी को एक बार फिर पीएम बनाने की बात तो कर रहे हैं लेकिन ढाई दशकों के बाद भी उनके सुर धारा 370, अयोध्या और समान नागरिक संहिता पर पुराने हैं.

तेज प्रताप को सताया जान का डर, दुश्मनों पर बरसे- चंद्रप्रकाश नहीं लालू का बड़का बेटा लड़ रहा चुनाव

चुनाव का आखिरी चरण आते-आते लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप की जुबान तल्ख से तल्ख होती जा रही है. अब तो उन्हें दुश्मनों से जान का खतरा भी सताने लगा है.

जिस वाराणसी से हुई मोदी युग की शुरुआत, उसके सियासी मूड की A-B-C-D

देश की सबसे वीआईपी सीट हमेशा ही वीआईपी रही है. आपको बताते हैं कि वाराणसी लोकसभा सीट आखिरकार हमेशा से क्यों सुर्खियों में रहती आई है और कब किसे यहां जीत-हार मिली.

23 बार सांसद देनेवाले सिंधिया परिवार की परीक्षा आज, गुना में ज्योतिरादित्य का फिर चलेगा सिक्का?

सिंधिया परिवार देश की सियासत में हमेशा दखल रखता रहा है. इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना से पांचवीं बार किस्मत आज़मा कर रहे हैं. उन पर अपनी सीट जीतने का ज़िम्मा तो है ही, पश्चिमी यूपी की सभी सीटें जिताने का भी दबाव है.

बलबीर जाखड़ का अपने बेटे पर ही खुलासा- उम्मीदवारी को लेकर कभी हुई ही नहीं बात

आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार बलबीर सिंह जाखड़ के बेटे ने केजरीवाल पर 6 करोड़ लेकर टिकट देने का सनसनीखेज़ आरोप लगाया है, लेकिन अब उस बेटे का भी सच सामने आने लगा है.

प्रयागराज में रीता बहुगुणा जोशी का साथ देने वाला ये ‘मुगल-ए-आज़म’ कौन है? जानें

बीजेपी के लिए प्रयागराज का चुनाव मुश्किल हो गया है. ऐसे में बीजेपी प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी की मदद के लिए 'मुगल-ए-आज़म' सामने आया है. कौन है ये 'मुगल-ए-आज़म', आइए बताते हैं.

चार फेज के चुनाव बाद मायावती के लिए आखिर क्यों नरम हुए पीएम नरेंद्र मोदी?

पीएम मोदी ने मायावती को लेकर जैसा नर्म रुख दिखाना शुरू किया है उसने सियासी पंडितों को सोचने पर मजबूर कर दिया है. चुनावी नतीजे अभी आए नहीं और इतनी जल्दी गठजोड़ों के बनने-बिगड़ने के लक्षण दिख रहे हैं.

‘इनका काम जात-पात जपना, जनता का माल अपना करना’, मोदी का कन्नौज में विपक्षियों पर हमला

पीएम मोदी ने कन्नौज में विपक्षियों को जमकर घेरा. आतंक से लेकर जाति के मुद्दे तक पर मोदी ने तमाम विरोधियों से हिसाब लिया.

मोदी ने 2019 में वाराणसी को ही चुनाव लड़ने के लिए क्यों चुना, इसका जवाब 2014 में ही छिपा है

पीएम मोदी एक बार फिर वाराणसी से चुनावी ताल ठोक रहे हैं. उन्होंने किसी और सीट से भी पर्चा नहीं भरा है. आखिर इस सीट पर मोदी के अखंड भरोसे की क्या वजह है.. जानते हैं.

मोदी के खिलाफ अब मुकाबला रोमांचक,वाराणसी के दिग्गज नेता की बहू ने संभाला मोर्चा

शालिनी यादव को गठबंधन का उम्मीदवार बनाकर नरेंद्र मोदी के सामने वाराणसी के मैदान में उतार दिया गया है. यहां जानें शालिनी की वो ताकत जिसके बूते वो मोदी के सामने गंभीर चुनौती पेश कर सकती हैं.

VIDEO: वाराणसी में मोदी-मोदी के नारों के बीच पूछने लगा बेरोज़गार- क्या अमित शाह के बेटे बेचेंगे पकौड़ा?

मोदी के रोड शो से पहले टीवी9 भारतवर्ष की टीम ने भी वाराणसी में रोड शो किया. इस दौरान हर तबके के लोगों ने अपनी बातें बढ़-चढ़कर कैमरे के सामने रखीं.

‘गंगापुत्र’ से काशी पूछे सवाल- कितनी साफ हुई गंगा?

गंगा सफाई वाराणसी का पुराना और अहम मुद्दा रहा है. 2019 के लोकसभा चुनाव में ये मुद्दा फिर गर्मा रहा है. वाराणसी ही नहीं देशभर में गंगा के स्वच्छता कार्यक्रम पर बहस चल रही हैं.

वाराणसी का चुनाव अब बना दिलचस्प, मोदी के खिलाफ खुल गया मोर्चा

देश की सबसे वीआईपी सीट वाराणसी पर सबकी निगाहें टिकी हैं. प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ गठबंधन ने मिलजुलकर प्रत्याशी उतार दिया है, वहीं कांग्रेस भी अपनी तरफ से रणनीति बना रही है. साफ लग रहा है कि इस बार मुकाबला एकतरफा नहीं रहनेवाला.

हाथ काटने की बात करने वाले वरुण गांधी ने ऐसे बदला रंग..

साल 2019 का चुनाव मेनका गांधी और वरुण गांधी दोनों के लिए बेहद चुनौतीभरा लग रहा है. जो मेनका सौम्यता से बोलती थीं वो अचानक कठोर भाषा का उपयोग करने लगी हैं, वहीं आग उगलनेवाले वरुण के मुंह से फूल बरस रहे हैं.

5 साल पहले कांग्रेस के जिस घोषणापत्र को जनता ने नकारा, उससे कितना अलग है 2019 का वचन पत्र?

दो बार लगातार सरकार में रहने के बाद जनता ने 2014 में कांग्रेस को नकार दिया. उस साल कांग्रेस ने जो घोषणापत्र जारी किया उससे कितना अलग है कांग्रेस का ताज़ा वचनपत्र, जानिए.

बिहार में महागठबंधन के संकट का आज होगा समाधान, थोड़ी ही देर में खत्म होगा सस्पेंस

बिहार में महागठबंधन का संकट थोड़ी ही देर में सुलझ सकता है. कल टाली गई प्रेस कॉन्फ्रेंस आज होनेवाली है. जिन बिंदुओं पर महागठबंधन की गाड़ी फंसी हुई थी उनके बारे में जानिए.

खगोल प्रेमियों के लिए खास है 2019! अभी तीन ग्रहण हैं बाकी

साल 2019 खगोल प्रेमियों के लिए बहुत खास है. खगोल प्रेमी इस साल अब तक कुल दो महत्वपूर्ण खगोलीय घटनाओं का गवाह बन चुके हैं. इसके अलावा 2019 में अभी तीन और महत्वपूर्ण खगोलीय घटनाएं होनी शेष हैं. साल का पहला ग्रहण 6 जनवरी को लगा था जो कि सूर्य...