फोर्स और हैप्पी लैंडिंग के बीच अटकी रहीं सांसें, कैलास मानसरोवर से लौटकर नहीं मानता बावरा मन

ईश्वर को देखने के लिए मरना होता है. जो इस काया के साथ देखते हैं, सिद्ध होते हैं. न हम सिद्ध थे, न मरे. फिर भी अहसास किया. अगर इस अहसास का आपको सहभागी बना पाया तो यह मेरा पुण्य, नहीं बना पाया तो मेरी असफलता. लौटने के बाद भी...

बाल-बाल बचा विस्तारा विमान, सिर्फ 10 मिनट के बचे ईंधन के साथ लखनऊ में हुई लैंडिंग

लखनऊ के आसमान में विजिबिलिटी यानी दृश्‍यता अचानक कम होने की वजह से पायलटों ने इलाहाबाद हवाईअड्डों पर उतरने का फैसला किया.