Lockdown में लौटा जीवन में अनुशासन, ‘आपातकाल में सृजन फुलवारी’ ई-बुक लॉन्च

कपिल ने अपनी रचनाओं से यह दिखाने का प्रयास किया है कि आपातकाल एक संजीवनी की तरह आई हैं, जीवन शैली में अनुशासन का लौटना संभव हो पाया है. सृजनात्मकता का विस्तार होता चला जा रहा है.

100 CC बाइक से घूमा 25 हजार किलोमीटर, सोलो ट्रैवलर को लोगों ने समझा किडनैपर और ड्रग पैडलर

क‍िताब में यात्रा के पड़ाव और रास्ते में मिले स्थानीय लोगों की भाषा, शैली, खानपान और सोच वगैरह के बारे में भी बताया गया है. पूरी किताब में तकरीबन 350 तस्वीरें हैं. खुद से की गई महज एक कम‍िटमेंट के सहारे यह यात्रा पूरी की गई है.