अयोध्या केस: आखिरी दौर में पहुंची सुनवाई, एहतियातन लगाई गई धारा 144

चीफ जस्टिस साफ कर चुके हैं कि 17 अक्टूबर के बाद किसी को भी अतिरिक्त समय नहीं दिया जाएगा.

‘मानते हैं उस जगह पर श्री राम का जन्म हुआ, लेकिन हमें पूरी तरह बाहर न किया जाए’ मुस्लिम पक्ष ने रखी बात

सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील धवन ने यह भी कहा कि विवादित इमारत कोई त्याग दी गई मस्जिद नहीं थी.