बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कोर्ट ने दर्ज किया आडवाणी का बयान, 4 घंटे से अधिक चली पूछताछ

कारसेवकों ने 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी में विवादित मस्जिद के ढांचे को गिरा दिया था. इसमें भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, सहित अन्य नेताओं के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है.

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: 24 जुलाई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दर्ज होगा आडवाणी का बयान

अयोध्या ढांचा गिराये जाने के मामले में कुल 49 लोगों को आरोपित बनाया गया था. इसमें से 32 लोगों के बयान दर्ज हो रहे हैं. मीडिया के भारी जमावड़े के कारण पुलिस ने कोर्ट परिसर के दरवाजे बंद कर दिए हैं.

बाबरी विध्वंस केस : वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से रिकॉर्ड होंगे आडवाणी-जोशी समेत 11 आरोपियों के बयान

सीबीआई (CBI) के वकील ललित सिंह ने कहा, "विशेष अदालत ने आरोपियों को सुनवाई के दौरान दिए गए तथ्यों और सबूतों के बारे में सूचित किया और उन्हें अपना बयान देने का निर्देश दिया.

बाबरी मस्जिद मामले के आरोपियों की 4 जून को कोर्ट में पेशी, 32 आरोपियों के बयान होंगे दर्ज

सुनवाई से अभियुक्तों (accused) को उनकी बेगुनाही को साबित करने का मौका मिलेगा और उनके खिलाफ अभियोजन एजेंसी CBI के नेतृत्व में सबूतों में मौजूद भयावह परिस्थितियों को भी स्पष्ट करने में मदद मिलेगी.