अमेरिकी नहीं बता सकते कि हमें चाबहार पोर्ट डेवलेपमेंट के लिए क्या करना है-भारतीय राजदूत

भारतीय राजदूत ने कहा कि भारत (India) ही एकमात्र देश है जहां रुपए-रियाल (Rupee-Rial) में द्विपक्षीय व्यापार किया जा रहा है. तथ्य यह है कि हम चाबहार (Chabahar Port) में काम कर रहे हैं, उसके लिए उपकरण खरीद रहे हैं.

संकट में CPEC परियोजना, चीन ने पाकिस्तान को किया आगाह; ये है वजह

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा एक बहुत बड़ी वाणिज्यिक परियोजना है, जिसका उद्देश्य तेल और गैस की कम समय में वितरण करना है.

‘तेल आयात पर छूट खत्म करने के फैसले का चाबहार परियोजना पर असर नहीं’

मेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फैसला किया कि जिन देशों को अमेरिका ने ईरान से तेल खरीदने की छूट दी थी, उसे जारी नहीं रखा जाएगा.