हाथों में खाली बर्तन और सिर्फ एक सवाल- बोलो सरकार, क्या हम मर जाएं?

भूखी औरतें और नंगे बच्चे हाथों में ख़ाली थाली लिए एक पहर के खाने की तलाश में गलियों और चौराहों पर भटक रहे हैं.