अस्पताल में नहीं थी जगह तो 100 बीमार बच्चों को कलेक्टर अपने घर ले गए

गंभीर रूप से पीड़ित बच्चों सहित उनके परिजनों को जिलाधिकारी सिंह के आवास के कमरों में ही ठहराया गया, जहां उनके भोजन आदि की समुचित व्यवस्थाएं की गई.