मालेगांव ब्लास्ट केस में 11 साल बाद भी क्यों नहीं बरी हो पाईं प्रज्ञा ठाकुर, पढ़ें FACTS

2008 में मालेगांव में हुए ब्लास्ट में छ: लोगों की जान चली गई थी. जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. इस मामले में आरोपी प्रज्ञा सिंह को जमानत पर रिहा किया गया है लेकिन आरोपो से बरी नहीं किया गया.