आजादी के नारे…चंदन का बदला और गोपाल की बंदूक…जामिया गोलीकांड की पूरी कहानी

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गोली चलाने वाला अपने मंसूबों को अंजाम देने के बाद वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाने लगा. पढ़ें दिनभर का घटनाक्रम...

जामिया गोलीकांड की कहानी, चश्मदीद की जुबानी…कुछ मिनटों के लिए सहम गए थे लोग

ये मार्च जैसे ही शुरू हुआ वैसे एक शख्स वहां आया और हाथ में देसी पिस्तौल लेकर धमकी देने लगा. इस पूरी घटना के चश्मदीद छात्रों ने उन खौफनाक पलों को याद करते हुए कहा कि वो शख्स पूरी तरह से आपा खो बैठा था.