फिरोजाबाद एक्सीडेंट : सिस्‍टम की लापरवाही से चली गईं जानें, बस में 60 की जगह ठूंसे गए थे 80 लोग

जिस कंटेनर (ट्रक) से बस टकराई थी वो कंटेनर लगभग 3 घंटे से एक्सप्रेस-वे पर खड़ा था. UPEIDA (उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण) के नियमों के मुताबिक येलो लेन पर खड़ा किया जाना था.