जिन मशीनों ने छापी संविधान की पहली कॉपियां, कबाड़ में बिकीं तो मिले डेढ़ लाख रुपये

कैलिग्राफर प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ने अंग्रेजी में संविधान लिखा और वसंत कृष्‍ण वैद्य ने हिंदी में. पहली 1,000 कॉपियों में से एक कॉपी तो सर्वे ऑफ इंडिया (SoI) के पास आज भी है.