स्‍कूल जाते वक्‍त सावित्रीबाई फुले पर गंदगी, कीचड़ फेंकते थे लोग, फिर यूं आया बदलाव

सावित्री का जीवन भी संघर्ष से भरा रहा है. जब वो स्कूल जातीं थी तो लोग उन्हें पत्थर मारते थे. गंदगी फेंकते थे. अंदाजा लगाया जा सकता है कि सामाजिक विषमताओं के बाद भी खुद को शिक्षित करना और उसके बाद बालिका विद्यालय खोलना कितना मुश्किल रहा होगा. 160 साल...