JNU हिंसाः अंधेरे में पीटने वो भी आए जो दिन में कहते थे दोस्त, पढ़ें- 8 पीड़ितों की आपबीती

पेरियार हॉस्टल के कमरों के दरवाजे और खिड़कियां तोड़ दी गई. उन्हें देखकर बाहर निकलने की धमकी के साथ काफी गालियां दी गई. वे नाम ले-लेकर स्टूडेंट को खोज रहे थे.