बाबरी विध्वंस पर फैसले से पहले अयोध्या में भाईचारे-सद्भाव का जोर, सबने कहा- खत्म हो विवाद

महंत युगल किशोर कहते हैं, इसमें कोई संदेह नहीं है कि वह एक काला दिन था, जिसने पूरे देश में दंगे भड़काए, जो भी निर्णय हो हमारी चिंता सिर्फ इतनी है कि सद्भाव बनाए रखा जाना चाहिए.