और इस तरह 44 साल पहले आज ही के दिन लागू कर दी गई थी Emergency

इंदिरा गांधी के पुत्र संजय गांधी का मानना था कि प्रधानमंत्री के रूप में पार्टी के किसी भी नेता पर भरोसा नहीं किया जा सकता क्योंकि उस स्थिति में इंदिरा की हैसियत पार्टी के अंदर कम होगी.