मां ने अस्पताल में छोड़ा, डॉक्टर ने मंदिर के पास; चली गई जान, नवजात को दुनिया नहीं आई रास

जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने दो अक्टूबर को शिशु को विजयवाड़ा के अस्पताल ले जाने को कहा. विजयवाड़ा के सरकारी अस्पताल में शिशु को मृत घोषित कर दिया गया.

पति की दूसरी शादी से खफा थी पहली बीवी, सौतन के मासूम बेटे का गला घोंट डाला

करीब सालभर पहले उसका पति किसी काम से बिहार गया था. वापस लौटा तो 23 साल की एक महिला भी उसके साथ थी.

15 दिन के बच्चे की जिंदगी बचाने के लिए थम गया केरल

बॉलीवुड फिल्म ट्रैफिक जैसी कहानी रियल लाइफ में भी देखने को मिली. सोशल मीडिया की पहल और लोगों की समझ-बूझ के चलने ये असंभव काम संभव हो पाया.