सांड़ की मदद करने में वकील को लगा लाखों का चूना, इंटरनेट से निकाला था रेस्क्यू टीम का नंबर

पुष्पेंद्र ने बताया कि यह घटना 31 दिसंबर को हुई थी लेकिन पुलिस ने 22 दिनों तक चक्कर कटाने का बाद भी केस दर्ज नहीं किया.