पॉर्न देखना धरती के लिए बन गया बड़ा खतरा, समझिए कैसे!

रिसर्च में पाया गया कि डिजिटल टेक्नॉलजी से होने वाले एनर्जी कंजंप्शन में सालाना 9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.