जब हिटलर की हुकूमत से टकरा गई मुहब्बत!

पहले ज़रा इस तस्वीर को इत्मीनान से देख लीजिए. ये तस्वीर मानव इतिहास का वो दस्तावेज़ हैं जिस पर सभ्य समाज को नाज़ होना चाहिए.  दोनों हाथ छाती पर बांधे ये आदमी ऑगस्ट लैंडमेसर है. जब उसके चारों तरफ लोग नाज़ी सैल्यूट कर रहे हैं तब वो अपने आसपास के शोर से बेपरवाह धूप...