झारखंड : केयरटेकर सीएम रघुवर दास के खिलाफ मुकदमा, अब शिकायत वापस लेंगे हेमंत सोरेन

रघुवर दास पर आरोप है कि उन्‍होंने झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्‍यक्ष हेमंत सोरेन की जाति पर 'आपत्तिजनक' टिप्‍पणियां कीं.

‘सियासी मौसम वैज्ञानिकों’ का अनुमान फेल, अधिकांश दलबदलू चित

भाजपा से टिकट नहीं मिलने से नाराज राधाकृष्ण किशोर ने अपनी चुनावी नैया पार करने के लिए आजसू का दामन थाम लिया और उन्हें छतरपुर से टिकट मिल गया. परंतु मतदाताओं ने उन्हें नकार दिया और उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा.

झारखंड विधानसभा : लगातार दूसरी बार स्पष्ट बहुमत की सरकार, पढ़ें- चुनाव परिणाम की खास बातें

इससे पहले साल 2000, 2005 और 2009 के विधानसभा चुनावों में किसी भी दल अथवा गठबंधन को स्पष्ट जनादेश नहीं मिला और न कोई मुख्यमंत्री पांच साल का कार्यकाल पूरा कर पाया था.

कौन हैं झारखंड में रघुबर दास की नैया डुबाने वाले सरयू राय ? जानिए- क्या है उनकी खासियत

सरयू राय के ट्वीटर हैंडल पर कवर फोटो में लिखा है- 'अहंकार के खिलाफ चोट, जमशेदपुर करेगा वोट.' तो क्या अहंकार ने रघुबर दास की नैया डुबोई ? इससे पहले जमशेदपुर पूर्वी से रघुबर दास लगातार पांच बार विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं.

JharkhandResults: कांग्रेस वाली बीमारी बीजेपी को पड़ रही भारी

झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस महागठबंधन को इस बार जनता ने स्‍पष्‍ट बहुमत दिया है, जबकि सबसे ज्‍यादा वोट पाने वाली बीजेपी सत्‍ता से बाहर हो गई है. मतलब राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश के बाद अब झारखंड भी खराब स्‍ट्राइक रेट के चलते बीजेपी के हाथों से निकल गया है.

दूसरी बार झारखंड की कमान संभालने जा रहे हेमंत सोरेन, पढ़ें उनका दिलचस्प सियासी सफरनामा

झारखंड के पांचवें मुख्यमंत्री बनने से पहले हेमंत सोरेन साल 2010 में बनी अर्जुन मुंडा सरकार में उपमुख्यमंत्री रहे थे. तब भाजपा और जेएमएम ने आधी-आधी अवधि तक मुख्यमंत्री रहने के फ़ॉर्मूले के तहत सरकार बनाई थी.

झारखंड में सीएम की कुर्सी पर लगे ग्रहण से रघुबर दास भी नहीं बच सके!

रघुबर दास की जमशेदपुर ईस्‍ट सीट पर हार से झारखंड में 19 साल पुराना वो मिथक एक बार फिर सच साबित होता दिख रहा है.

राज्यों में क्यों सिमट रही है बीजेपी, पढ़ें- झारखंड चुनाव में सत्ता से बाहर होने की 9 बड़ी वजह

बीते दो साल में लोकसभा चुनाव को छोड़कर यानी विधानसभा चुनावों में बीजेपी का असर कम होता जा रहा है. इस साल महाराष्ट्र खोने के बाद बीजेपी के लिए झारखंड बड़ा झटका है. आइए जानते हैं कि किन बड़ी भूलों की वजह से बीजेपी सिमटने लगी है.

देश के पॉलिटिकल मैप में लगातार घट रहा है भगवा रंग, दो साल में इस तरह सिमटी बीजेपी

राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में सरकार गंवाने के बाद अब झारखंड की सियासत से भी भगवा रंग उतरता दिख रहा है. नक्शे से पता चलता है कि बीजेपी ने कितना बड़ा राजनीतिक हिस्सा गवां दिया है.

झारखंड चुनाव: दूसरे चरण के लिए प्रचार थमा

इन विधानसभा क्षेत्रों में 14 सीट कोल्हान संभाग और छह अन्य सीट छोटानागपुर संभाग में है. अगर 2014 के नतीजे पर गौर करें तो कोल्हान झामुमो के लिए मजबूत गढ़ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर के बावजूद झामुमो ने यहां आठ सीटों पर कब्जा किया था.

बीजेपी के मुख्‍यमंत्री के सामने खड़े बागी के समर्थन में उतरे नीतीश कुमार

बिहार-झारखंड के सियासी गलियारों में ऐसी चर्चा है कि बीजेपी ने सरयू राय का टिकट इसलिए का काट दिया, क्‍योंकि नीतीश कुमार के साथ उनकी करीबी पार्टी को खटक रही थी.

यहां है देश का सबसे ऊंचा गुंबद, देखें 19 साल बाद झारखंड को मिली विधानसभा की Photos

नया झारखंड विधानसभा भवन तीन मंजिला है. इस विधानसभा भवन को 465 करोड़ की लागत राशि से बनाया गया है.

झारखंड सरकार का ऐलान, किसानों को स्मार्ट फोन खरीदने के लिए दी जाएगी राशि

झारखंड सरकार के 50 हजार से अधिक किसानों को स्मार्ट फोन खरीदने के लिए दो-दो हजार रुपये की राशि उनके बैंक के खाते में डालेगी.

झारखंड: राजभवन और सीएम आवास की गायों को चारे के लाले, जानिए वजह

राज्यपाल के आवास में कामधेनु गौशाला, जिसमें आठ दूध देने वाले पशु हैं, मुख्यमंत्री आवास के गौशाला में चार है, जबकि इसके प्रशिक्षण केंद्र में 50 पशु हैं.

‘पश्चिम बंगाल को पाकिस्‍तान बनाना चाहती हैं ममता’, जय श्रीराम विवाद पर भड़के झारखंड CM

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री देबाश्री चौधरी ने कहा है कि 'मुस्लिम वोटों के लिए ममता बनर्जी जय श्री राम का विरोध कर रहीं हैं.

झारखंड में गौ हत्या समझ बौखलाई भीड़ ने एक को पीट-पीटकर मार डाला

मृतक अपने अन्य तीन साथियों के साथ मिलकर एक मर चुके बैल की कटाई कर रहे थे, लेकिन आरोपियों को लगा कि वे गाय को काट रहे हैं.