आंखों में पट्टी बांध चलती कार में युवती से गैंगरेप करते रहे 5 दरिंदे, अभी तक कानून के हाथ खाली

पीड़िता ग्रैजुएशन सेकंड ईयर की कॉलेज स्टूडेंट है. वह एक अक्टूबर को सुबह पांच बजे अपने कोचिंग सेंटर जा रही थी, तभी तीनों आरोपियों ने उसे अगवा करके उसे जबरन एक कार में खींचा और दरिंदगी को अंजाम दिया.

4-4 हजार में बिकी दो नाबालिग, बंधुआ मजदूरी और रेप झेलते रहने के बाद ली पुलिस की शरण

बच्चियों ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि उन्हें एक फैक्टरी में ले जाया गया, जहां उनसे 16 घंटे काम कराया जाता और दिन में केवल दो बार खाने के लिए खाना दिया जाता था.