हॉवर्ड प्रोफेसर रिचर्ड अल्पर्ट, जो बाबा नीम करोली से मिलकर बन गए संत रामदास

रिचर्ड अल्पर्ट हॉवर्ड में प्रोफेसर रहने के दौरान साइकेडेलिक रिसर्च के लिए 1967 में भारत आए. यहां उनकी मुलाकात 'महाराज जी' के नाम से मशहूर आध्यात्मिक गुरु नीम करोली बाबा से हुई.