फिर कोर्ट की चौखट पर अयोध्‍या केस, जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने दाखिल की रिव्यू पिटीशन

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने कहा था कि वे मस्जिद के लिए पांच एकड़ वैकल्पिक भूमि स्वीकार नहीं करेंगे.

‘बीच वाले गुम्बद के नीचे भगवान राम का जन्मस्थान, इसका कोई सबूत नहीं’, SC में बोला सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संवैधानिक पीठ अयोध्या रामजन्मभूमि मामले में दैनिक सुनवाई कर रही है.

‘अगर किसी उपासना स्थल को ढहाकर मस्जिद बनाई जाये तो उसकी मान्यता नहीं बदलती’

अयोध्‍या विवादित भूमि मामले में रामजन्‍मभूमि पुनरुद्धार समिति की ओर से वरिष्‍ठ वकील पीएन मिश्रा जिरह कर रहे हैं.