कश्मीरी पंडितों को वापस बुला रहीं मां खीर भवानी, हनुमानजी ने स्थापित की थी मूर्ति

मान्यताओं के अनुसार रावण माता का परम भक्त था, वो जप-तप से देवी को प्रसन्न रखता था. मगर जब रावण ने मां सीता का अपहरण किया तो देवी ने नाराज होकर अपना स्थान छोड़ दिया.