संजय बारू चाहते थे कि मनरेगा का श्रेय रघुवंश प्रसाद सिंह को मिले, पर कांग्रेस ने हड़प लिया!

द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर ( The Accidental Prime Minister) के लेखक ने अपनी किताब में लिखा है कि मनरेगा को लागू करने के पीछे मनमोहन सिंह ( Manmohan Singh) और तत्कालीन ग्रामीण विकास मंत्री रघुवंश (Raghuvansh Prasad Singh) का ही दिमाग था.