चंपत राय बोले- उद्धव को अयोध्या आने से कोई नहीं रोक सकता, संतों ने जताई नाराजगी

निर्वाणी अखाड़ा के महंत धर्मदास ने चंपत राय (Champat Rai) के बयान का विरोध करते हुए कहा कि चंपत राय ने गलत भाषा का प्रयोग किया है, उन्होंने अयोध्या के लोगों का अपमान किया है. चंपत राय फर्जी महासचिव बने हैं, उन्हें तुरंत पद से हटाया जाना चाहिए.