झारखंड में उठ रही नए धर्म की मांग, जानें क्या है ‘सरना’

झारखंड में अब तक तीन जनजाति के लोग मुख्यमंत्री बन चुके हैं, जिनमें मुंडा जनजाति से बाबूलाल मरांडी, संथाल से शिबू सोरेन और कोड़ा जनजाति से मधुकोड़ा मुख्यमंत्री बने हैं.