मोदी ने तो उरी के बाद ही कहा था- खून और पानी नहीं बह सकते साथ, फिर क्यों मिलता रहा पाक को पानी!

पाकिस्तान को भारत के हिस्से का पानी मिलना पुरानी बात है. हर हमले के बाद पानी रोक देने की धमकी भी पुरानी बात है. पुलवामा के बाद वही धमकी फिर दी गई लेकिन सवाल है कि अब तक हमारे हिस्से का पानी पाकिस्तान क्यों पाता रहा?